AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

गुरुवार, 18 अक्तूबर 2018

‘विजयादशमी’ और ‘दशहरा’ का वास्तविक अर्थ

आलेख/ कमलेश कमल

विगत 9 दिनों तक मैंने दुर्गा-पूजा से जुड़े विविध तथ्यों और मान्यताओं की भाषा-विज्ञान और प्रतीकों के आधार पर व्याख्या की, जो विस्तार से और  तर्कपूर्ण पद्धति से आगे पुस्तक-रूप में आएगी !

आज संक्षेप में कुछ बातें रखूँगा :

आप आदि-शक्ति  की महान शक्ति (महिषासुर) पर विजय का जश्न मना रहे हैं (दुर्गापूजा, विजयादशमी) या 'जिसमें मन रमे',उस राम की  'गर्जना करने वाले' रावण पर विजय का जश्न मना रहे हैं ( दशहरा, विजया दशमी) ?

आपने  इन 9 दिनों में क्या किया ? क्या दशहरा का अर्थ 10 मनोरोगों या पापों पर विजय नहीं है ? मनोवैज्ञानिक रूप से DSM-05 भी 10 रोगों की बात करता है, तो वेद-उपनिषद से लेकर  मनु-स्मृति तक में 10 विकारों  की चर्चा है । समीचीन है कि अंदर उठने वाले इन 10 विकारों के 'शोर', रौरव, या 'गर्जन' को 'रावण' समझा जाए और इन्हें 'भगवत्ता में रमने की इच्छा- शक्ति' (राम) के द्वारा जीतने का उपक्रम हो । यह महज़ स्थूल रूप से किसी पुतले में आग लगाकर खुशी मना लेने का दिन मानने से अच्छा है ।

अगर भाषा की थोड़ी भी समझ हो और तार्किकता से ज़रा भी वास्ता हो, तो हमें आज के परिप्रेक्ष्य में काम, क्रोध, लोभ, मद, मोह, हिंसा, स्तेय (चोरी), अनृत(झूठ), व्यभिचार और अहं रूपी 10 विकारों को ही 'दशानन' मानना चाहिए; जिसे ज्ञान और साधना से मारना है ।

 यदि इन पर विजय  हो गई हो, तभी  विजयादशमी है ;नहीं तो यह 'राम की रावण पर' या 'दुर्गा की महिषासुर पर' विजय की कोई कहानी भर होगी । 'दस विकारों का हरण' ही दशहरा या विजयदशमी है। राम, रावण,दुर्गा, महिषासुर, दशहरा, आदि शब्दों के मूलार्थ से तो यही व्यंजित हो रहा है । विस्तार से यहाँ वर्णन समीचीन नहीं होगा !

बहरहाल, आप सभी को विजयादशमी की शुभकामनाएँ !

आपका ही,
कमल

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट