AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 7 मई 2017

रिंद नदी का स्तर कम होने से पेयजल संकट से जूझ रहे लोग

फतेहपुर, शमशाद खान । जनपद के बिन्दकी तहसील के विकास खंड खजुहा के बंडवा गांव में पेयजल का गहरा संकट पशु पक्षी हुए बेहाल रिंद नदी के तट पर स्थित गांव बंडवा जहां पर रिंद नदी का जलस्तर कम हो जाने के कारण वाटर लेबर की समस्या का कोई सामाधान नजर नहीं आ रहा है इस गांव में करीब 17 से 18 हैंडपंप लगे हुए है। जिसमें से 6 ग्रामवासी के निजी है बाकी इंडिया मार्का लगे हुए है। ग्रामीणों का कहना है कि वाटर लेबर इतना कम हो गया है कि पाइपों से गंदा पानी निकलने लगता है। अब सामने मजबूरी है कि किसी-किसी पाइप में पाइप डालने के लिए जगह भी नहीं बचीं है। बिजली इस समय मिल रही है। जिससे हम लोग सुबह जग कर पहले नलकूपों से पानी भर लेते है। पीने के पानी की व्यवस्था तो किसी भी प्रकार से कर लेते है, लेकिन जानवरों के पीने के लिए मात्र रिंद नदी का सहारा है जबकि पहले मई और अप्रैल के महीने में नदी का जलस्तर बिल्कुल कम नहीं होता था, लेकिन नहर विभाग के उच्चाधिकारियों द्वारा रिंद नदी में पानी न छोड़ने के कारण हमारे गांव में पीने के पानी की समस्या का संकट आ गया है। अभी तक हम लोगों के गांव में पानी पीने की समस्या जल्दी से नही आती रही हैं इस सबंध में ग्राम प्रधान पति शिवसिंह गौतम ने बताया कि सात हैंडपाइपों के रिबोर के लिए प्रस्ताव किया है। इसके बावजूद प्रयास कर रहा हूं कि मई माह में सभी हैंडपाइपों का रिबोर कर सके। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट