AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 7 मई 2017

भूतपूर्व सैनिक ने बैठक कर कश्मीर की हालत पर जतायी चिंता

फतेहपुर, शमशाद खान । भूतपूर्व सैनिक उत्थान समिति की बैठक मे केन्द्र सरकार के अति संवेदनहीन रवैये अपनाये जाने का आरोप लगाते हुए कश्मीर की स्थित पर चिंता जाहिर की।
रविवार को दक्षिणी गौतम नगर स्थित कैम्प कार्यालय मे भूतपूर्व सैनिक उत्थान समिति की एक बैठक अध्यक्ष विद्याभूषण तिवारी की अध्यक्षता मे सम्पन्न हुयी। बैठक को सम्बोधित करते हुए जिलाध्यक्ष विद्याभूषण तिवारी ने कहा कि केन्द्र सरकार के अति संवेदनहीन रवैये के कारण देश के जवानों की जानें जा रही है। कश्मीर की हालत बद से बत्तर होती जा रही है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान लगातार सीज फायर का उल्लंघन कर रही है और हमारे जबांज सैनिकों की हत्यायें हो रही हैं और उनके जिम्मेदार मंत्री बस एक वक्त दे देते हैं कि उनकी कुर्बानी व्यर्थ नही जायेगी। उन्होंने कहा कि इससे बड़ा देश का दुर्भाग्य क्या होगा की इतने बड़े देश और इतनी बड़ी सीमाओं की रक्षा का भार सम्हालने वाला पद रक्षामंत्री वह भी यह सरकार नियुक्त नही कर पा रही है और अरूण जेटली वित्त मंत्रालय देखेगें या रक्षा मंत्रालय। उन्होनें कहा कि रक्षा मंत्रालय व गृह मंत्रालय दो ऐसे महत्वपूर्ण पद है जिसमे एक पर बाहरी तथा एक को आंतरिक सुरक्षा का भार रहता है और एक दिन भी रिक्त नही रहना चाहिए। वह भारत के इतिहास मे प्रथम बार ऐसा हुआ है कि यह अतिरिक्त प्रभार मे हैं और इसका पाकिस्तान पूरा फायदा उठा रहा है। देश की जनता को इन शहीदों की शहादत को सम्मान करते हुए रक्षा मंत्री पद की मांग करना चाहिए और किसी सैनिक अधिकारी को पूर्ण कालिक रक्षा मंत्री को बनाना चाहिए। इस मौके पर बाल सिंह सेंगर, दिनेश अग्निहोत्री, आरके विश्वकर्मा, शिवकरन सिंह, अश्विनी अग्निहोत्री, अमर बहादुर सिंह, पन्नालाल कुशवाहा, एमके सिंह, रामचन्द्र पाल, जागृति तिवारी, नीलम सिंह आदि मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट