AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

मंगलवार, 16 मई 2017

आसमान से बरसी आग, आम जनजीवन बेहाल

फतेहपुर, शमशाद खान । गर्मी की तपिश दिनों दिन बढ़ती जा रही है। भगवान भाष्कर के प्रचण्ड स्वरूप के चलते आम जन जीवन खासा बेहाल दिख रहा है। तेज धूप के चलते लोग दोपहर समय घरों में ही कैद नजर आते हैं। दोपहर 11 बजते ही सड़कों पर सन्नाटा सा छाता दिखाई देने लगता है। उल्लेखनीय है कि धीरे-धीरे गर्मी अपने पूरे प्रचण्ड स्वरूप पर आती जा रही है। बढ़ती गर्मी की दस्तक के साथ ही आम जन जीवन खासा प्रभावित हो रहा है। सुबह दस बजते ही तेज धूप के चलते लोगों का घरों से निकलना मुश्किल हो जाता है। मौसम का मिजाज दिनो दिन गर्म होता जा रहा है। लोग गर्मी से बचने के लिए तरह-तरह के यत्न कर रहे हैं। गर्मी से लोगों की दिनचर्या काफी प्रभावित हो रही है। इंसान ही नही पशु पक्षी भी तापमान के गर्म तेवरों से बेहाल नजर आ रहे हैं। आज तापमान का पारा 45 डिग्री सेल्सियस तक जा पहुंचा जिससे लोग बेहाल हो उठे। जरूरी कार्यों से निकलने वाले लोग गर्मी से बचने के लिए तरह-तरह के यत्न करते रहे कोई छाता लेकर तो महिलायें नकब लगाये नजर आयी। वही तरण तालों मे भी लोग पहुंच कर गर्मी से बचाव के यत्न करते दिखायी दिये। पशु-पक्षी भी बेहाल नजर आ रहे हैं। तेज धूप के चलते दोपहर के समय लोग घरों से निकलना मुनासिब नही समझते है। जिसके चलते सडको पर सन्नाटा सा पसरा नजर आने लगता है। गर्मी की बढ़ती दस्तक के साथ ही संक्रामक बीमारियों ने भी पैर पसारने शुरू कर दिये हैं। संका्रमक बीमारियों की चपेट में सर्वाधिक नौनिहाल ही नजर आ रहे हैं। तेज धूप के चलते नौनिहाल के हाल बेहाल हो रहे हैं। जिला चिकित्सालय से लेकर निजी नर्सिंग होमों तक गर्मी के चलते संक्रामक बीमारियों से प्रभावित मरीजों की संख्या दिनो-दिन बढ़ती जा रही है। चिकित्सक बताते है कि गर्मी की बढ़ती दस्तक के चलते तेज धूप में निकलना स्वास्थ्य के लिए खासा हानिकारक साबित हो सकता है। धूप से बचाव के यत्न करने चाहिए तथा साथ ही साथ ग्लूकोज का अधिक से अधिक मात्रा मे सेवन करना चाहिए। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट