AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 20 मई 2017

बाँदा में बोगस साबित हुई मुख्यमंत्री की समीक्षा बैठक



बाँदा, के एस दुबे -जिले की कानून व्यवस्था और विकास कार्यो की समिच्छा करने आये up के cm आदित्यनाथ योगी  की गर्मी उतारने के लिए बाँदा जिले के अफसरों ने पिछले तीन दिनों से बाँदा शहर में महत्वपूर्ण स्थानों का कायाकल्प करने में कोई कोर कसर नही छोड़ी थी, और फर्जी व मनगढंत आंकड़ेबाजी का ऐसा प्लान तैयार किया था कि बाँदा जिले में cm योगी को सब अच्छा अच्छा ही दिखाई दे।बताते चले कि लगातार कई वर्षों से सूखा, अनावृष्टि से चौपट हुई फसलो और चौपट हुए व्यापार की वजह से जिले का आम नागरिक बेहद परेशान था।इसी बीच उम्मीद जागी की cm योगी के आगमन से बाँदा जिले की हालत सुधरेगी और व्यवस्था में बदलाव आएगा।वर्षो से बंद पड़ी योजनाओ में एक बार फिर से काम शुरू होगा और आम आदमी के हालात सुधरेंगे।किन्तु बाँदा जिले में तैनात अफसरों और चापलूस नेताओ ने cm योगी के आगमन पर ऐसा जाल बुना की जनता देखती रह गई लोग कराहते रहे तथा चालक अफसरों ने cm के बाँदा आगमन पर जनता से मिलने व बाँदा जिले के हालातों से रूबरू होने का कोई मौका ही नही छोड़ा। चालक अफसरों ने cm की ऐसी किलेबंदी कर दी और फर्जी व मनगढंत कार्यो का ऐसा विवरण तैयार किया कि cm बाँदा जिले की जमीनी हकीकत से कोसो दूर ही रहे।बताते चले कि बाँदा जिले में स्वास्थ्य ,शिच्छा,बिजली,पानी,सिचाई,खाद,बीज व रोजगार की सुविधाएं दम तोड़ चुकी है,लोगो के पास रोजगार नही है,सिचाई के साधन नही है। केंद से आये सूखा राहत का पैसा वापस जा चुका है। बागवानी व उद्दनिकरण में जमकर घपला व बंदरबांट हो रहा है।यहां तक कि गरीबी उन्मूलन,स्वच्छता अभियान, महिला सशक्तिकरण तथा कृषक उपकरण,कीटनाशक वितरण में घोर घपलेबाजी हो चुकी है।गरीबो को मिलने वाले आवास,स्वच्छ शौचालयों और मनरेगा जैसे कार्यो में अफसरों का कमीसन चलता है। बाँदा जिले की मुख्य सड़कें व संपर्क मार्ग बिल्कुल उखड़े व खुर्द बुर्द पड़े है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट