AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 7 मई 2017

निरीक्षण करने आये सिंचाई विभाग के एसी का कर्मचारियों का किया घेराव

फतेहपुर, शमशाद खान। सिचाई विभाग का निरीक्षण करने आये अधीक्षण अभियन्ता को कर्मचारियों के कोपभाजन का शिकार होना पड़ गया। विभाग मे फैले भ्रष्टाचार की जांच कराकर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही किये जाने की मांग को लेकर विभाग के ही कर्मचारियों ने ही अधीक्षण अभियन्ता का घेराव कर भ्रष्टाचार मे लिप्त अधिकारियों की जांच कराकर कार्यवाही किये जाने की मांग किया। 
शनिवार को सिंचाई विभाग की व्यवस्थाओं का निरीक्षण करने आये अधीक्षण अभियन्ता दिनेश कुमार जैन को अपने ही विभाग के कर्मचारियों के ही कोपभाजन का शिकार होना पड़ गया जैसे ही अधीक्षण अभियन्ता सिंचाई विभाग के डाक बंगले पहुंचे वहां पर मौजूद कर्मचारियों ने अधीक्षण अभियन्ता का घेराव करते हुए निचली गंगा नहर एक्सियन वैभव सिंह पर अपने नजदीकियों को लाभ एवं कमीशन खोरी का आरोप लगाते हुए बड़े पैमाने पर विभाग पर किये गये गबन की बात कही और कहा कि सिल्ट सफाई के नाम पर बड़े पैमाने पर अधिकारियों की मिलीभगत से गबन किया गया है। कर्मचारियों के प्रान्तीय नेता कतार सिंह ने अधीक्षण अभियन्ता से एक्सियन पर आरोप लगाते हुए कहा कि सिंचाई हेतु शासकीय धन का आवंटन सही ढंग से नही किया। धन का आवंटन हेड मे अधिक होना चाहिये था परन्तु एक्सियन ने टेल को अधिक धन दिया। विशेष ठेकेदारों को लाभ देने के उद्देश्य से इलाहाबाद जनपद की गाड़ियों को अनुमोदित किया गया जो गलत है साथ ही कतार सिंह ने यह भी कहा कि गंगा नहर कार्यालय की बिल्डिंग जर्जर है कर्मचारी बिना पंखे, कुर्सी के ड्यूटी करने पर मजबूर हैं वही एक्सियन पर आरोप लगाते हुए कहा कि विभाग मे खरीदे गये फर्नीचर व अलमारी मे बड़े पैमाने पर घोटाला किया गया है जिन्हें सस्ते दर पर खरीद कर अधिक दाम की रसीद लगायी गयी है जिसकी जांच कराकर दोषी लोगों पर कार्यवाही की जाये। वहीं महिला कर्मचारियों ने भी शौचालय जैसी अन्य समस्याओं को बतायी। जिसके बाद अधीक्षण अभियन्ता ने कर्मचारियों को भरोसा दिलाया कि उनके द्वारा लगाये गये आरोपों की निष्पक्ष जांच कराकर दोषियों पर कार्यवाही निश्चित तौर की जायेगी किसी को भी बक्सा नहीं जायेगा। जिसके बाद अधीक्षण अभियन्ता ने विभाग के कार्यालयों पर पहुंच कर निरीक्षण कर दस्तावेजों को खंगालते हुए साफ सफाई रखने के निर्देश दिये। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट