AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

मंगलवार, 23 मई 2017

एक सप्ताह बीत जाने के बाद भी पुलिस नहीं कर सकी, सर्राफा व्यवसायी लूट का खुलासा

फतेहपुर, शमशाद खान । थरियाॅव थाना क्षेत्र के विलन्दा गाॅव के समीप हुई एक सप्ताह पूर्व सर्राफा व्यवसायी के साथ लूट की घटना का खुलाशा करने पर पुलिस ने पूरी ताकत लगा रखी है। किन्तु उसको कोई सफलता प्राप्त नहीं हो सकी है। सर्विलांस के सहारे सर्राफा व्यवसायी लूटकांड का खुलाशा करने के लिए पुलिस ने आधा दर्जन से अधिक संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर पूॅछ ताॅछ कर चुकी है किन्तु उसके बाद भी पुलिस किसी सही नतीजे पर नहीं पहुॅच सकी है। वैसे तो जनपद में अपराधों का ग्राफ निरन्तर बढ़ता ही जा रहा है और पुलिस किसी एक भी घटना का खुलाशा करने में कामयाबी हाशिल नहीं कर पा रही है। अपराधों में हो रही ताबड़ तोड़ बृद्धि की शिकायत केन्द्रीय मंत्री साध्वी निरंजन ज्योति ने अभी हाल ही में मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ से मिल कर जनपद की कानून व्यवस्था का ब्योरा भी पेश किया है। 
जनपद के पुलिस अधीक्षक कवीन्द्र प्रताप सिंह ने सभी थानाध्यक्षों को पखवारे का समय देते हुए कड़ी चेतावनी दी थी कि जिन थानाक्षेत्रों में घटी घटनाओं का खुलाशा नहीं हुआ है उनका पर्दाफाश एक पखवारे के भीतर कर लिया जाये अन्यथा थानाध्यक्षों पर कार्यवाही की गाज गिरने में कोई संदेह नहीं है। पुलिस अधीक्षक के कड़े फरमान के एक सप्ताह से अधिक का समय गुजर जाने के बाद भी हत्या लूट, डकैती, चोरी जैसी बड़ी एक भी घटनाओं का खुलाशा नहीं किया जा सका है। घटनाओं का खुलाशा करने की पुलिस अधीक्षक द्वारा दी गयी चेतावनी तथा तय की गयी समय सीमा धीरे धीरे समाप्त होते की ओर पहॅुच रही है। वैसे वैसे थानाध्यक्षों के दिलों की धड़कनें तेज होने लगी है। 
शहर के पीलू तले चैराहा मोहल्ला निवासी दिनेश सोनी विगत पन्द्रह मई को थरियाॅव थाना क्षेत्र के हसवां बाजार आभूषण बेंचने जा रहा था तभी बिलन्दा गाॅव के समीप मोटर साइकिल सवार नकाबपोश बदमाशों ने उसको तमंचे के बल पर रोक कर लाखों रूपये कीमत के आभूषण और नकदी लूट कर फरार हो गये थे। दिन दहाड़े हुई इस लूट की घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहॅुचे तत्कालीन अपर पुलिस अधीक्षक राजकमल यादव ने घटना का शीघ्र पर्दाफाश किये जाने के निर्देश दिये थे किन्तु इतने दिन का समय बीत जाने के बाद भी पुलिस घटना का खुलाशा करने की बात तो दूर की रही लूटेरों का सुराग तक नहीं लगा सकी है। हला की पुलिस इस घटना का खुलाशा करने के लिए आधा दर्जन से अधिक संदिग्ध लोगों को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूॅछ ताॅछ कर चुकी है किन्तु पुलिस को कोई सफलता प्राप्त नहीं हुई है। सर्राफा व्यवसाई के साथ दिन दहाड़े हुई लूट की घटना का थरियाॅव पुलिस एस पी द्वारा दी गयी चेतावनी की समय के समय के भीतर खुलाशा कर पायेगी या फिर जिला पुलिस प्रमुख के कोपभाजन का शिकार होना पड़ेगा यह तो आने वाला समय ही बता पायेगा। बहर हाल कुछ भी हो पुलिस के हाॅथ सर्राफा व्यवसायी लूट काण्ड मे कोई सफलता नहीं मिली है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट