AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

मंगलवार, 13 जून 2017

वैध की आड़ में जगह-जगह अवैध खनन, सरकार के नाम गुंडा टैक्स की भी हो रही वसूली

बाँदा, के. एस. दुबे -   एक तरफ तो जिले की जनता और आम जन समुदाय एक-एक मुट्ठी मोरम के लिए परेशान है,वही वैध की आड़ में अवैध मोरम खनन करके माफिया लोग नोटों के मकान बना रहे है। बाँदा जिले की केन,बागे और यमुना के इर्द गिर्द हो रहे मोरम खनन को देखे तो जिले के गिरवां, नरैनी, करतल, कालिंजर, बदौसा, बिसंडा, ओरन, सिंहपुर, कमासिन, चिल्ला, मटौंध, तिंदवारी आदि क्षेत्रो में मोरम का वैध व अवैध खनन जारी है, गिरवां, करतल, मटौंध छेत्रो में तो पड़ोसी राज्य मध्य प्रदेश के नाम पर अपने उत्तर प्रदेश  के भूभाग की मोरम सप्लाई चल रही है। बताते चले कि मोरम के इस काले कारोबार को रोकने वाले जितने भी हाथ है, वह सब मोरम माफियाओ के साथ बराबर के हिस्सेदार है। सरकार द्वारा खनिज निकासी और परिवहन में ओवरलोडिंग रोकने का जो फरमान जारी है, उस पर भी दिन में 400 फिट और रात में 800 फिट का कारोबार जारी है। तुर्रा यह कि प्रदेश के प्रमुख सचिव परिवहन ने रात के समय ओवरलोडिंग को फरमान से मुक्त कर दिया है।खनिज विभाग द्वारा जगह-जगह बनाये गए बैरियर भी  बहती गंगा में जमकर हाथ धो रहे है। वही प्रदेश सरकार के नाम से 3500 रुपये और स्थानीय नेताओं के नाम पर 1000 रुपये वसूलने वाले वसूलानंद भी प्रति ट्रक के हिसाब से वसूलकर अपना काम तमाम कर रहे है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट