AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 25 जून 2017

लाठी-डण्डों से पीट पीटकर दबंगों ने युवक को उतारा मौत के घाट

फतेहपुर, शमशाद खान । योगी की सरकार बनते ही खाकी वर्दी बिल्कुल बेलगाम हो गयी किसी पर भी अपना वर्दी का रौब दिखाकर जो चाहे लिखवा लेती है ऐसा ही मामला आज उस समय देखने को मिला जब असोथर थानाक्षेत्र के ग्राम सुजानपुर मे रविवार की सुबह दबंगों ने एक लगभग 40 वर्षीय युवक को लाठी डण्डा व बंदूक की बटो से पीट पीटकर मौत के घाट उतार दिया तथा मौके से फरार हो गये। उधर मृतक के परिजन जब थाने हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचे तो पुलिस ने हत्या का मुकदमा दर्ज करने मे आनाकानी करते हुए उल्टा ही पीड़ित परिवार को डरा धमका रही है। उधर पीड़ित परिवार पुलिस अधीक्षक की चैखट पर पहुंच गुहार लगायी। जानकारी के अनुसार थाने के सुजानपुर गांव निवासी स्व0 मेडीलाल का पुत्र किशनपाल को गांव के ही राजकरन व रामजीत मोटर साईकिल मे बैठकर यह कहकर ले गये कि उसके खेतों मे बेड लगानी है जब वह खेत पहुंचा तो वहां पहले से ही सन्तलाल व कल्लू जो लाइसेंसी बंदूक लिये खड़े थे वहां पहुंचते ही चारों ने उसे घेर लिया और लाठी डण्डा व बंदूक की बटों से उसे बेरहमी से पीटने लगे इसी बीच जब किशनपाल को रामजीत व राजकरन ले जा रहे थे तो शक होने पर किशनपाल का पुत्र राजा भाईया भी पीछे-पीछे आ गया तो उसने देखा कि उसके पिता को यह लोग बेरहमी से पीट रहे है मना करने के बावजूद भी वह नही माने और संतलाल तथा कल्लू ललकार रहे थे कि जिन्दा न छोड़ना जान से मार देना। हमलावर जब तक उसे पीटते रहे जब तक उसकी जान न निकल गयी। घटना को अंजाम देने के बाद हमलावर मृतक के पुत्र राजा भईया को जान से मारने की धमकी देते हुए फरार हो गये। उधर सूचना पर पहुंची पुलिस तत्काल शव को लेकर जिला चिकित्सालय के मर्चरी हाउस मे रखा दिया वही जब मृतक के परिजन थाने रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचे तो वहां मौजूद थानाध्यक्ष ने उल्टा ही पीड़ित परिवार को धमकाया कि जैसा मै चाहूंगा वैसा ही तुमको रिपोर्ट लिखकर देनी पड़ेगी वरना तुम लोगों के खिलाफ उल्टा केस बनाकर जेल मे सड़ा देगें। मृतक का पुत्र राजा भईया व भांजा ज्ञान सिंह ने बताया कि थानाध्यक्ष का कहना है कि सिर्फ एक ही व्यक्ति का ही नाम रिपोर्ट मे दर्शाओगे बाकी नाम नहीं लिखाना है। मृतक का भांजा ज्ञानसिंह ने बताया कि कुछ साल पहले राजकरन ने उसके मामा से 60 हजार रूपये उधार लिया था जिसको वह नही दे रहा था साथ ही जो उसके पापा बटाई का खेत लिये हैं उसको राजकरन जबरन अपने कब्जे मे करना चाह रहा है इसी को लेकर वह रंजिश मानता था और आज उसने अपने साथियों के साथ मिल पापा की हत्या कर दी। इसका जब विरोध मृतक के भांजे व पुत्र ने किया तो अपनी खाकी वर्दी का रौब दिखाते हुए उल्टा ही पीड़ित पर मुकदमा दर्ज कर जेल की सलाखों के पीछे डालने की धमकी देने लगे आखिरकार पीड़ित परिजन को जब थानाध्यक्ष ने धमकी दी तो वह पुलिस अधीक्षक कवीन्द्र प्रताप सिंह के चैखट मे पहुंच न्याय की गुहार लगाने लगे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट