AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 24 फ़रवरी 2018

पत्नी और ससुरालजनो से प्रताडित युवक ने एसपी से लगायी गुहार

फतेहपुर, शमशाद खान । सदर कोतवाली क्षेत्र के अंतर्गत सनगांव निवासी एक युवक ने पुलिस अधीक्षक को शिकायती पत्र देते हुये बताया कि पहाडीपुर मजरे संनगांव की रहने वाली एक युवती से वह प्यार करता था तथा बाद में उसने मुस्लित रीति रिवाज के मुताबित उसने शादी की थी। पीडित युवक ने बताया कि वह सऊदी अरब गया था तथा वहां अपने घर वालो की चोरी से अपनी पत्नी को उसके खाते में काफी पैसा भेजता था। पीडित ने बताया कि उसके द्वारा भेजे जाने वाले पैसे से उसकी पत्नी ने लाखो रू0 कीमत के सोने चांदी के आभूषण बनवाया था और एक दिन अपने भाई के माध्यम से पूरे आभूषण अपने मायके भेज दिया है। इसकी सूचना उसने कोतवाली पुलिस को भी दी थी।
पुलिस अधीक्षक को संनगावं निवासी एजाज अहमद के पुत्र फैय्याज अहमद ने शिकातयी पत्र देते हुये बताया कि पहाडीपुर निवासी निहाल खान पुत्री मरियम से वह प्यार करता था और मुस्लिम रीति रिवाज के अनुसार 17 नवम्बर 2017 को उसने शादी भी की थी। पीडित ने बताया कि वह सऊदी अरब चला गया था तथा वहंा से अपनी पत्नी के खाते में अपने परिवार से छिपाकर काफी पैसा भेजा करता था। उसके द्वारा भेजे जाने वाले पैसे से उसकी पत्नी मरियम ने लाखो रू0 कीमत के सोने चांदी के आभूषण बनवाये थे। पीडित ने बताया कि उसके द्वारा भेजे जाने वाले पैसे से उसकी पत्नी हार का सेट सोने का, सर का टीका सोने का, झूमर सोने की, झुमकी, सात पत्ती का मंगल सूत्र, तीन सोने की अंगूठी, हाथ का चांदी का चूडा जिस पर सोने का पानी चढा था, चांदी का हाथ फूल, बाल की चोटी चांदी की, दो जोडी पायल मरियम की मां ने मेरे पैसे से बनवायी थी। पीडित ने बताया कि शादी के बाद से उसकी पत्नी उसके घर में रहती थी। उसकी सास सैदा ने एक चाल चली की उसकी पत्नी मरियम के पेट में दो महीने का बच्चा था सैदा ने अपने लडके आमिर को उसके घर 26 जनवरी 2017 को भेजा और उसकी पत्नी ने चोरी से अलमारी मे ंरखा हुआ सारा जेवर कपडा आदि उसके माध्यम से मयके भेज दिया। इस बात की सूचना जब उसको हुयी तो उसने केातवाली पुलिस को प्रार्थना पत्र देते हुये पत्नी द्वारा चोरी किये गये आभूषणो की घटना के सम्बन्ध में मुकदमा पंजीकृत किये जाने की फरियाद की। जिस पर पुलिस ने यह कह कर मामला टाल दिया कि महिला के खिलाफ चोरी का आरोप नहीं बनता है। पीडित ने बताया कि उसकी पत्नी द्वारा तथा सास के द्वारा उसके मोबाइल मंे की गयी बात रिकार्ड है। उसने बताया कि उसकी सास ने उसकी पत्नी से कहा कि तुम अपने पेट में पल रहे गर्भ को गिरवा दो मायके चली आवो मै तुम्हारी शादी करवा दूंगी। बच्चे की चिन्ता मत करो बच्चा गिरवा दूंगी। इस सम्बन्ध में महिला थाना पुलिस ने जांच की थी। तथा दोनो पक्षो को थाने बुलाया था। थाने पर दो पक्षो के उपस्थित होने पर उसकी पत्नी मरियम ने मेरे द्वारा प्रताडना से इंकार कर दिया था और कहा था कि बच्चे का खतरा है अपने पति के साथ रहूंगी। परन्तु मेरे पिता रखने को तैयार नहीं थे मै मरियम को अपने खाला अहमदी बेगम के यहा ंले जाकर रखा था। 17 फरवरी 2018 को 7 से 8 बजे के बीच वह मसाला खाने चला गया था इसी बीच उसका साला आमिर अपने पिता के साथ मोटर साइकिल से आया पिता कुंछ दूर उसके माकान से खडे थे। तभी उसकी पत्नी खाला लडकियों को चकमा देकर पूरा जेवर अपने भाई व पिता के साथ लेकर चम्पत हो गयी। इस घटना की सूचना उसकी खाला ने 100 न0 पुलिस को दी थी। सूचना मिलने पर मौके पर आयी पुलिस ने कहा कि घटना की रिर्पोट थाना कोतवाली में लिखवाओ किन्तु पुलिस ने घटना के सम्बन्ध में मुकदमा पंजीकृत नहीं किया। पीडित ने बताया कि कानपुर से प्रकाशित एक समाचार पत्र में उसके तथा उसके परिवार वालो ेक खिलाफ फर्जी एक खबर प्रकाशित की गयी की वह लोग मरिमय को प्रताडित करते है। जबकि यह आरोप पूरी तरह से बेबुनियाद है। पीडित ने पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाते हुये कहा कि घटना की निष्पक्ष जांच कराकर उसके साथ न्याय किया जाये। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट