AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

बुधवार, 28 मार्च 2018

सहकारी सम्मेलन मे सहायता समूह की योग्यता पर दिया गया जोर

फतेहपुर, शमशाद खान । बुधवार को भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ सहकारी शिक्षा क्षेत्रीय परियोजना द्वारा जिला सहकारी सम्मेलन का आयोजन ताम्बेश्वर मैरिज हाल मे किया गया। मुख्य अतिथि के रूप मे उपस्थित प्रभारी जिला सहायक निबंधक सहकारिता छिदुवन प्रजापति ने सहकारी समितियों, सहकारी समितियों की सदस्यता तथा सहकारी योजनाओं, स्वयं सहायता समूहों, की उपयोगिता तथा सहकारी समितियों के गठन की जानकारी दी। उन्होनें कहा कि सहकारी समितियां बनाकर अपने जीवन और आमदनी को बढ़ाया जा सकता है, उन्होनें सहकारी प्रतिनिधियों से सहकारी समितियों के विकास हेतु सहयोग करने की अपील की तथा साथ ही कहा कि सहकारी समितियों से खाद एवं बीज लेकर अपनी फसल में तथा कम लागत में फसल वृद्धि कर सकते हैं। सहकारी समितियां विकास की कड़ी है उसके लिए सहकारी प्रतिनिधियों को अपने अधिकार एवं कर्तव्यों के प्रति जागरूक रहना होगा। विशिष्ट अतिथि के रूप मे उपस्थित एडीओ सहकारिता नील कमल पाण्डेय ने स्वयं सहायता समूहों तथा सहकारी समितियों के रोजगार सम्बन्धी जानकारी दी। परियोजना अधिकारी सन्तोष कुमार ने भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ द्वारा चलायी जा रही योजनाओं, फसल प्रदर्शन, महिला सिलाई, कढ़ाई प्रशिक्षण शिविर, भण्डारण की उपयोगिता, युवाओं की सहकारिता मे भागीदारी तथा शीर्ष स्तरीय सहकारी समितियों की सदस्यता आदि की जानकारी देकर सहकारी प्रतिनिधियों को जागरूक किया। डीसीएफ सचिव जंग बहादुर सिंह ने जिला सहकारी संघ द्वारा चलायी जा रही योजनाओं, खाद वितरण केन्द्र आदि की विस्तार से जानकारी दी। स्वयं सहायता समूह प्रभारी राजेन्द्र मिश्र एवं सरोज शर्मा ने स्वयं सहायता समूह के गठन तथा खाता खोलने तथा उसके अन्र्तगत रोजगार करने की जानकारी दी। सहकारी शिक्षा अनुदेशक राम बहादुर सिंह ने सहकारी समितियों को विकास का माडल बताया, उन्होनें इफको एवं कृभकों की संकट हरण बीमा योजना की जानकारी दी, सहकारी प्रतिनिधियों को इफको एवं कृभकों की योजनाओं के लाभ लेने की सलाह दी। सहकारी शिक्षा अनुदेशक अमित कुमार ने सहकारी समितियों ऋण वितरण एवं ऋण वापसी की जानकारी दी। उन्होनें कहा कि सहकारी समितियां तभी विकास कर सकेंगी जब सहकारी समिति का सदस्य जागरूक होगा। इस अवसर पर सहकारिता विभाग के कृषि मार्ग दर्षक विवेक सिंह, सचिन पुत्तन सिंह, मान सिंह, सूर्य प्रकाश सिंह, सन्तोष सिंह सहित नवीन कुमार, जवाहर लाल मौर्य, दीपक सिंह, देवीदीन, भोले, राधेश्याम, सुरेश, मनोज, केके मिश्रा, चन्द्रबली, शिवबिषुन तथा भारतीय राष्ट्रीय सहकारी संघ सहकारी शिक्षा क्षेत्रीय परियोजना की महिला प्रेरक सविता पाण्डेय, स्वयं सहायता समूह की अध्यक्ष निर्मला देवी, पार्वती देवी, सम्पतिया, बिटान सहित दो सैकडा सहकारी प्रतिनिधि उपस्थित रहे। अन्त मे परियोजना अधिकारी सन्तोष कुमार ने सभी सहकारी अधिकारियों एवं सहकारी प्रतिनिधियों का आभार व्यक्त किया। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट