AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

बुधवार, 28 मार्च 2018

कायस्थवाहिनी प्रमुख ने की भव्य चित्रगुप्त शोभायात्रा की अपील -

 




कायस्थ वाहिनी प्रमुख गुरूदेव पंकज भइया कायस्थ के गृह जनपद मुख्यालय बस्ती में आज मुख्य बैठक और प्रैस कॉन्फ्रेंस की। जिसमें उन्होनें कहा कि 31मार्च दिन शनिवार कायस्थवाहिनी अंतर्राष्ट्रीय के ओर से भगवान चित्रगुप्त जी के प्रगटोत्सव महापर्व पर शाम 3बजे बस्ती में भगवान भगवान चित्रगुप्त जी की भव्य शोभायात्रा का प्रतिवर्ष की तरह इस वर्ष भी भव्य  आयोजन किया जाता रहा है। यह रथयात्रा 31मार्च शाम 3बजे चित्रगुप्त मंदिर से निकलकर हनुमानगढ़ी कम्पनी बाग होते हुये पुन: चित्रगुप्त मंदिर पहुंचेगी, यहीं यात्रा का समापन होगा। यात्रा के दौरान श्रद्धालु प्रभु के अद्भुत छवि पर पुष्प वर्षा करते हुये उनके नयनाभिराम झांकी के दर्शन कर अपने कर्मों के शुभ-अशुभ कर्मों के बंधनों से मुक्त होकर प्रभु की कृपा व आशीर्वाद प्राप्त करेगें। मीडिया से मुखातिब वाहिनी प्रमुख ने कहा कि कायस्थवाहिनी का उद्देश्य भगवान चित्रगुप्त जी को सर्व समाज में स्थापित करना और अपने कुलवंशजों में भगवान के प्रति श्रद्धा जगाना और उन्हें सामाजिक, आर्थिक, राजनीति तौर पर मजबूत कर जनहितकारी कार्यों को कर देश की सनातन संस्कृति की रक्षा करना है। इस धार्मिक कार्य हेतु वाहिनी के समर्थक घर-घर जाकर सभी को समाजहितकारी कार्यों के प्रति जागरूक कर रहे हैं। वाहिनी प्रमुख ने यह भी बताया कि 31मार्च भगवान श्री चित्रगुप्त प्रगटोत्सव महापर्व के मुख्य अतिथि भूतपूर्व पुलिस महानिरीक्षक श्री लक्ष्मीनारायण श्रीवास्तव जी होगें। गौरतलब हो कि श्री लक्ष्मीनारायण जी समाज के बेहद ईमानदारी और प्रतिष्ठित व्यक्तिव हैं। अंत में उन्होंने निवेदन करते हुये कहा कि चित्रगुप्त प्रगटोत्सव शोभायात्रा आमजनमानष की प्रेम, भक्ति, आस्था और एकता का प्रतीक है अत: इस धर्म यज्ञ में सभी सहयोगी बन इस कार्यक्रम को सफल बनाने में अपनी-अपनी सहयोग आहूती प्रदान करके महापुण्यदायी चैत्र पूर्णिमा पर महापुण्य के भागी बने। इस प्रैस वार्ता में अशोक श्रीवास्तव, डब्बू श्रीवास्तव, मंडल अध्यक्ष अजय श्री , वरिष्ठ मंडल उपााध्यक्ष मुकेेेश श्रीवास्तव, जिला उपाध्यक्ष अंशुमान श्री, शिधार्थ श्री , दुर्गेन्द श्री , उमेेश श्री उपस्थित थे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट