AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 19 मार्च 2018

हंगामे के बाद फिर जागा स्वास्थ्य विभाग, अवैध नर्सिंग होमों को थमाया नोटिस

फतेहपुर, शमशाद खान । मानक विहीन प्राइवेट नर्सिंग होमों मे लोगों की जिंदगी के साथ हो रहे खेलवाड़ के बाद रविवार को शहर के कृष्णा हास्पिटल मे प्रसव के दौरान बच्चे की मौत पर हुए बवाल के बाद स्वास्थ्य विभाग नींद से जागा और सोमवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम ने कड़ा रूख एख्तियार करते हुए अवैध रूप से संचालित हो रहे नर्सिंग होमों के दस्तावेज खंगालने के बाद अवैध करार देते हुए उन्हें नोटिस थमाते हुए बन्द करने के निर्देश दिये जिससे नर्सिंग होम संचालकों मे विभाग की कार्यवाही से हड़कंप मच गया। 
सोमवार को लम्बे समय से मरीजों के इलाज मे अवैध नर्सिंग होमों की लापरवाही की आ रही शिकायतों पर कड़ी कार्यवाही करने के मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 वीके पाण्डेय के निर्देश पर एसीएसओ डा0 संजय कुमार के नेतृत्व मे टीम ने शहर के अलग-अलग स्थानों पर पहुंचकर छापेमारी की। टीम सबसे पहले नासिरपीर रोड़ स्थित कृष्णा हास्पिटल पहुंची जहां रविवार रात को प्रसव के दौरान नवजात के मरने की शिकायत मिली थी। टीम ने हास्पिटल संचालक अमित शर्मा से नर्सिंग होम की अनुमति के सम्बन्ध मे कागजात मांगे जिसे न दिखाये जाने पर टीम द्वारा संचालक को नोटिस थमाते हुए तत्काल नर्सिंग होग का संचालन बन्द करने का आदेश दिया गया। तत्पश्चात टीम चंद कदम आगे नये प्रारम्भ हुये न्यू श्री सागर नर्सिंग होग पहुंची जहां संचालक महेश मिश्रा ने नर्सिंग होम का पुरानी जगह का पंजीकरण के कागज प्रस्तुत करते हुए स्थान परिवर्तन का प्रार्थना पत्र सीएमओ कार्यालय द्वारा शीघ्र मिलने की बात कही जिस पर टीम द्वारा उन्हें चेतावनी जारी कर प्रपत्र पूरे होने तक सभी चिकित्सीय कार्य रोक देने का आदेश दिया गया। उसके बाद एसीएमओ डा0 संजय कुमार व शैलेष श्रीवास्तव की टीम जीटी रोड़ स्थित एक नर्सिंग होम मे पहुंची जहां मौके पर ओटी का संचालन व अन्य चिकित्सीय कार्य होने की जानकारी मिली जिसके संचालक द्वारा केवल प्रदूषण प्रमाण पत्र व मेडिकल स्टोर के संचालन के दस्तावेज दिखाया गया। नर्सिंग होम सम्बन्धित कोई प्रपत्र न दिखाये जाने पर संचालक को नोटिस थमाते हुए तत्काल नर्सिंग होम मे ताला लगाये जाने का निर्देश चिकित्सा विभाग की टीम द्वारा ताबड़तोड़ छापेमारी व कड़ा रूख को देखकर शहर के नर्सिंग होम संचालकों मे हड़कम्प मचा रहा और वह टीम की मूवमेंट की जानकारी लगातार लेते रहे। वहीं एसीएमओ डा0 संजय कुमार का कहना रहा कि शासन के निर्देश पर अवैध नर्सिंग होमों की जांच उनके द्वारा की जा रही है जिससे मानक विहीन नर्सिंग होम को चिन्हित कर उन्हें नोटिस दिया गया है। नोटिस अवधि के पश्चात मानक पूरे न करने वाले नर्सिंग होम पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट