AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

गुरुवार, 22 मार्च 2018

अवैध खनन के विरोध मे किसानों ने डीएम कार्यालय मे किया प्रदर्शन

फतेहपुर, शमशाद खान । प्रदेश मे योगी सरकार बनते ही अवैध खनन को लेकर मुख्यमंत्री ने सख्त रूख अख्तियार करते हुए किसी भी सूरत मे अवैध खनन नहीं होने दिये जाने के लिए सख्त निर्देश दिये थे इसके बावजूद भी अफसर और खनन माफियाओं की मिलीभगत से करोड़ों की गंगा बालू का अवैध तरीके से खनन किया जा रहा है और सैकड़ों बीघा गरीब किसानों की फसल उजाड़ दिया गया है जिसके विरोध मे आज सैकडों किसान डीएम कार्यालय मे पहुंचकर लापरवाह अधिकारियों के विरोध मे प्रदर्शन कर जिलाधिकारी को शिकायती पत्र सौंपकर माफियाओं पर कार्यवाही किये जाने की मांग किया।
गुरूवार को कल्यानपुर थानाक्षेत्र के ग्राम गुनीर परगना कोटिया गुनीर के सैकड़ों किसानों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर अवैध खनन किये जाने के विरोध मे प्रदर्शन करते हुए अवगत कराया कि जनपद उन्नाव के बालू निकलाने का पट्टा माफियाओं द्वारा किया गया है लेकिन वह फतेहपुर जनपद की सीमा मे कई महीनों से अवैध खनन कर रहे हैं। साथ ही गंगा किनारे सैकड़ों बीघा किसानों की फसलों को पूरी तरह से उजाड़ दिया है जबकि उन्नाव का खनन पट्टा होने के बाद जनपद की सीमा मे अवैध रूप से खनन कर रहे हैं। विरोध करने पर जान से मारने की धमकी माफियाओं द्वारा दी जा रही है। मामले की शिकायत बिन्दकी एसडीएम व खनन अधिकारियों से किये जाने के बाद उन्नाव एवं फतेहपुर जनपद के अधिकारी मौके पर पहुंचकर भूमि की पैमाइश करायी गयी जिसमे पूरी तरह से जिस स्थान पर अवैध ढंग से माफियाओं द्वारा खनन किया जा रहा था वह सीमा फतेहपुर जनपद की थी इसके बावजूद भी खनन माफियाओं पर किसी तरह की कोई कार्यवाही नहीं की गयी है। पीड़ित किसानों ने जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देते हुए माफियाओं द्वारा किसानों की बर्बाद की गयी फसलों का मुआवजा दिलाये जाने के साथ माफियाओं पर कार्यवाही करते हुए अवैध खनन रूकवाये जाने की मांग किया। इस मौके पर खान बहादुर, रामप्रसाद, रामसिंह, फूलकली, मालती, पंचम, ननकी, दिनेश नन्द किशोर, सुधीर, लक्ष्मी नारायण, सियाराम, गोविन्द, सोनू, गुलजारी, रामसिंह, दीप चन्द्र, सोमवती, जगदीश आदि किसान मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट