AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 15 अप्रैल 2018

विजयपुर चौकी इंचार्ज ने सिपाही को गोली मार उतारा मौत के घाट

फतेहपुर, शमशाद खान । किशनपुर थानाक्षेत्र के अंर्तगत पड़ने वाली विजयीपुर पुलिस चैकी मे बीती रात उस वक्त सनसनी खेज घटना घट गयी जब चैकी मे तैनात मगरूर उपनिरीक्षक ने अपने ही चैकी के हेड कांस्टेबिल की गोली मारकर हत्या कर दी। इस घटना से जहां पूरे पुलिस महकमे मे हड़कंप मच गया वहीं दरोगा द्वारा अपने ही सिपाही की गोली मारकर हत्या करने पर पुलिस अधीक्षक राहुल राज, अपर पुलिस अधीक्षक विनोद कुमार सिंह, क्षेत्राधिकारी खागा, किशनपुर थानाध्यक्ष समेत भारी पुलिस बल मौके पर पहुंच गयी। वहीं पुलिस ने आरोपी उपनिरीक्षक को अपनी हिरासत मे ले लिया है। जानकारी के अनुसार इलाहाबाद जनपद के नैनी निवासी दुर्गेश तिवारी जो डेढ साल से किशनपुर थाने के अंतर्गत स्थित विजयीपुर पुलिस चैकी मे हेड कांस्टेबिल के पद पर तैनात था बताते हैं कि बीती रात किसी बात को लेकर चैकी इंचार्ज लक्ष्मीकांत सेंगर उर्फ बेदड़क से विवाद हो गया बताते हैं कि विवाद इतना बढ गया कि चैकी इंचार्ज ने अपनी सर्विस रिवाल्वर निकाल ली जब तक मौके पर मौजूद सिपाही कुछ समझ पाते चैकी इंचार्ज ने दुर्गेश तिवारी को गोली मार दी जिससे वह मौके पर ही गिरकर तड़पने लगा। दरोगा द्वारा सिपाही को गोली मारने की घटना से जहां चैकी के सिपाहियों मे हड़कंप मच गया वहीं घायल सिपाही को आनन फानन उपचार के लिए खागा सीएचसी ले जाया गया जहां चिकित्सक ने उसकी हालत चिंताजनक देखते हुए जिला चिकित्सालय के लिए रिफर कर दिया। पुलिस मौहकमा घायल सिपाही को तत्काल 108 नम्बर एम्बुलेंस द्वारा जिला चिकित्सालय लेकर आयी लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी चिकित्सक ने सिपाही को मृत घोषित कर दिया। वहीं घटना की सूचना पाते ही इलाहाबाद रेंज के आईजी, पुलिस अधीक्षक, अपर पुलिस अधीक्षक, क्षेत्राधिकारी सदर, कोतवाली प्रभारी सदर समेत भारी पुलिस बल सदर अस्पताल पहुंच गये। उधर पुलिस अधीक्षक राहुल राज ने पुलिस के साथ जिला अस्पताल आये चैकी इंचार्ज लक्ष्मीकांत सेंगर उर्फ बेदडक का सर्विस रिवाल्वर अपने कब्जे मे लिया और उन्हें कोतवाली भेज दिया। वहीं घटना की सूचना पाते ही मृतक सिपाही के घर मे कोहराम मच गया। बताया जा रहा है कि वायरल हुए वीडीओ मे मृतक सिपाही व चैकी के अन्य सिपाही एक लगभग 50 वर्षीय वृद्ध को किसी मामले को लेकर पीट रहे थे कुछ ही देर बाद चैकी इंचार्ज पहुंचे और सिपाही दुर्गेश तिवारी से कहा सुनी हो गयी जिसके बाद ही यह घटना घट गयी। पुलिस ने शव को अपने कब्जे मे लेकर विच्छेदन गृह भेज दिया वहीं पोस्टमार्टम के बाद पुलिस लाइन मे मृतक सिपाही को अंतिम सलामी देकर शव को उनके निवास इलाहाबाद भेज दिया गया। अब सवाल यह उठता है कि आखिर जिस बुजुर्ग को सिपाही मार रहे थे आखिर वह कौन बुजुर्ग था और किस मामले मे उसे पकड़ कर लाये थे अभी यह राज खुलना बाकी है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट