AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शुक्रवार, 25 मई 2018

रमजान के दूसरे जुमे पर खचाखच भरी रही मस्जिदें

फतेहपुर, शमशाद खान। रमजान का पाक महीना चल रहा है। रमजान के दूसरे जुंमा पर मस्जिदों मे नामाजियों की भारी भीड़ रही। हर मस्जिद नमाजियांे से इस तरह भरी रही कि मस्जिद के बाहर भी नमाजियों ने नमाज अता की। नमाज अता करने के बाद गुनाहों की माफी के लिए अल्लाह की तरफ हजारों हांथ उठे। नमाजियों ने अल्लाह तआला से गुनाहों की माफी मांगने के साथ-साथ देश मे अमन चैन की दुआएं मांगी।
रमजान का माह शुरू हो गया है। रमजान का चांद देखते ही लोग गुनाहों से तौबा कर इस रहमत व बरकतों वाले माह मे नेकिया कमाने की नियत कर तरावीह के लिए मस्जिदों मे जाना शुरू कर देते हैं। तीसों दिन रोजा रखने के बाद ईद मनायी जाती है। यूं तो हर जुमे को मस्जिदों में नमाजियों की भारी भीड़ रहती है लेकिन रमजान माह के जुमा की नमाज अता करने के लिए हर काम छोड़कर लोग सुबह से ही नहा-धोकर नमाज की तैयारी कर लेते हैं और जहां भी रहते हैं आधा घण्टे पहले मस्जिद पहुंचने की कोशिश करते हैं जिसके चलते अजान होने के बाद से ही मस्जिदांे मे नजामी एकत्र होने लगते हैं। ऐसा ही नजारा आज रमजान के दूसरे जुमें को देखने को मिला। शहर की हर मस्जिद मे नजाजियों की भारी भीड़ रही। शहर के जामा मस्जिदों मे नमाज अता करने के लिए रोजदारों मे कुछ ज्यादा ही उत्साह देखने को मिला। इस उत्साह से ही बाकरगंज स्थित जामा मस्जिद, जामा मस्जिद कोतवाली तथा ज्वालागंज स्थित जामा मस्जिद मे नमाजियों की तादाद इतनी अधिक रही कि मस्जिद के बाहर भी नमाजी बैठे निर्धारित समय पर सभी मस्जिदों मे जुमें की नमाज अता की गयी। बाद नमाज सभी नामाजियों के हांथ ऊपर उठ गये और गुनाहों की मांफी मांगने के साथ-साथ देश मे अमन-चैन की दुआयें मांगी गयी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट