AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 17 जून 2018

शिक्षा से ही कोरी समाज की उन्नति व तरक्की सम्भव- खेमचन्द्र

फतेहपुर, शमशाद खान । अखिल भारतीय युवा कोरी समाज द्वारा भगवान गौतम बुद्ध की जयंती समारोह एवं कोरी सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमे समाज की उन्नति एवं शिक्षा पर जोर देने के साथ गौतम बुद्ध एवं डा0 भीमराव अम्बेडकर के जीवन पर प्रकाश डाला गया। 
रविवार को मुराइन टोला स्थित वीरागना झलकारी बाई सामुदायिक मिलन केन्द्र भुइयादेवी मंदिर परिसर मे अखिल भारतीय युवा कोरी समाज के तत्वाधान मे भगवान गौतम बुद्ध का 2562 वां जन्मदिवस समारोह एवं कोरी सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमे बड़ी संख्या मे समाज के लोग सामिल होकर समारोह को सफल बनाया। मुख्य अतिथि के रूप मे युवा राष्ट्रीय अध्यक्ष इं0 खेमचन्द्र कोली, पूर्व मंत्री इन्द्रजीत कोरी ने भगवान गौतम बुद्ध व डा0 भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर माल्र्यापण कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया उपस्थित समाज के लोगों को सम्बोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष इं0 खेमचन्द्र कोली ने कहा कि आज कोरी समाज अन्य समाजों से अभी भी बहुत पिछड़ा है। हमारे समाज की तरक्की व उन्नति के लिए हमे अपने बच्चों को अच्छी शिक्षा दिलानी होगी तभी समाज की तरक्की सम्भव है। साथ ही उन्होनें कहा कि राजनीति के क्षेत्र मे हमे आगे बढ़कर आना होगा जिससे लोकसभा, विधानसभा मे हमारी आवाज उठ सके। उन्होनें कहा कि इसके लिए समाज के लोगों को एकजुट होकर आगे बढ़ना होगा। साथ ही उन्होनें भगवान गौतम बुद्ध व डा0 भीमराव अम्बेडकर के जीवन मे रोशनी डालते हुए समाज के लोगों को अवगत कराया। समारोह की अध्यक्षता जिलाध्यक्ष सुरेश चन्द्र कोरी ने की। उन्होेनंे आये हुए अतिथियों का माल्र्यापण एवं प्रतीक चिन्ह भंेटकर स्वागत किया। कार्यक्रम के पश्चात मंदिर मे भण्डारे का आयोजन किया गया। इस मौके पर चेयरमैन प्रतिनिधि हाजी रजा, सालोन जनपद रायबरेली के विधायक दलबहादुर कोरी नरैनी बांदा विधायक राजकरन कबीर, सुभाष चन्द्र लहरी, सूर्यबली, बाबूराम आर्य, रामबहादुर, अशोक कुमार, सुरेश कुमार, डा0 देवानन्द, हनुमान प्रसाद, कालीदीन कमल, राजेश, मनीराम, प्रदीप कुमार, राजेन्द्र प्रसाद, रामविशाल शास्त्री, चन्द्रभान, अनिल कुमार, रामेश्वर फौजी, अशोक कुमार, रामकिशोर, श्यामबाबू, ज्ञानचन्द्र, रामप्रताप, छेदीलाल आदि मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट