AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 18 जून 2018

कड़ी सुरक्षा के बीच पुलिस भर्ती परीक्षा सम्पन्न प्रशासन ने ली राहत की साँस

फतेहपुर, शमशाद खान । कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच जनपद में प्रथम दिन की पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा शांतिपूर्ण संपन्न हुई। सुरक्षा की दृष्टि से परीक्षा केंद्र जहां छावनी में तब्दील रहे वहीं परीक्षार्थियों पर नजर रखने के लिए तीसरी आंख एवं बायोमेट्रिक्स हाजिरी के जरिए चाक चैबंद व्यवस्था की गई थी साथ ही अफसरों द्वारा परीक्षा केंद्रों पर भृमण कर स्थिति का जायजा लिया जाता रहा।
सोमवार को शहर एवं खागा कस्बा के विभिन्न केंद्रों में दोनों पालियों में प्रथम दिन की पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा संपन्न हुई पहली पाली सुबह दस बजे से बारह बजे तक और दूसरी पाली शाम तीन बजे तक शहर के उदय भान सिंह इंटर कॉलेज, रामा अग्रहरि बालिका इण्टर कालेज, सरस्वती बाल मंदिर इण्टर कालेज रघुवंशपुरम,रामा अग्रहरि महाविद्यालय, सरस्वती विद्या मंदिर इण्टर कालेज वीआईपी रोड एवं खागा तहसील के ठा दरियाव सिंह महाविद्यालय, आशा सिंह बालिका इण्टर कालेज, रानी चन्द्रप्रभा महाविद्यालय,गिरजा बालिका इन्टर कालेज,उज्ज्वल सिंह महाविद्यालय, गिरजा देवी महाविद्यालय में कड़ी एवं चाक चैबंद सुरक्षा व्यवस्था के बीच पुलिस आरक्षी भर्ती परीक्षा सम्पन्न हुई। परीक्षा के दौरान किसी भी प्रकार की अव्यवस्था से बचने के लिये प्रशासन द्वारा फूल प्रूफ प्लानिंग की गई थी जिसके तहत शहर एवं खागा कस्बे में परीक्षार्थियों एवं उनके परिजनों के सुरक्षा के लिये बस स्टैण्ड पर एक-एक इंस्पेक्टर के साथ भारी पुलिस बल तैनात किया गया था वहीं प्रश्न पत्र ट्रेजरी से लेकर कालेज के स्ट्रांग रूम तक पुलिस का कड़ा पहरा रहा। परीक्षा कराने की एजेंसी टीसीएस के सदस्यों के साथ इंस्पेक्टर एवं अफसरों की टीम परीक्षा समाप्त होने का बाद ओएमआर शीट सुरक्षित रखे जाने तक मुस्तैद रही। केंद्रों के बाहर परीक्षार्थियों का प्रवेश पत्र देख कर ही अंदर प्रवेश दिया गया वही परीक्षा केंद्रों पर बायोमेट्रिक के जरिये हाजिरी सुनिश्चित की गई और कक्ष के भीतर सीसीटीवी की निगरानी में परीक्षार्थियों ने परीक्षा संपन्न हुई परीक्षार्थियों की संख्या के हिसाब से सुरक्षा व्यवस्था की गई थी इनमें उपनिरीक्षक,सिपाही एवं महिला सिपाही एवं दो परीक्षा केंद्रों के बीच एक थानेदार की ड्यूटी लगाई गई थी जोकि क्लस्टर मोबाइल के रूप में सक्रिय रहे वहीं परीक्षा के दौरान अफसरों की टीम पल-पल का जायजा लेती रही दोनों पालियों की परीक्षा सकुशल संपन्न होने के बाद प्रशासन ने राहत की सांस ली।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट