AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 17 जून 2018

खरनाक हुई सडक, जिम्मेदारो ने नही ली सुध

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता -  बिधनू के साथ आसपास के लगभग 20 से अधिक गांवों को जोडने वाली जरौसी से सेन पश्चिम पारा के जाने वाली सडक पूरी तरह खडजां का रूप ले चुकी है। सडक का यह हाल कई महीनो से है। आये दिन यहां वाहन सवार गिरते पडते है लेकिन जिम्मेदार इस ओर ध्यान नही दे रहे है। स्थानीय लोगों का मानना है कि आने वाले बारिश के मौसम में यह सडक और भी खतरनाक हो जायेगी क्योंकि सडक पूरी तरह उखड चुकी है और सडक पर जगह जगह बडे बडे गडढे हो गये है।
             बताते चले कि जरौली से सेन पश्चिम पारा की आने जाने वाली यह सडक देनिपुरवा, उदयपुर, बिनौर, भैरमपुर, जमरेही, सीढी, इटारा, पहरी खडेसर आदि 25 गांव की मुख्य संपर्क सडक है और रोजाना इस सडक से हजारो छोटे-बडे वाहन गुजरते है। लोगो की माने तो दो वर्ष पूर्व विधायक मुनीन्द्र शुक्ला के कार्यकाल में इस संपर्क मार्ग का निर्माण कराया गया था लेकिन निर्माण ठीक न होने के कारण कुछ ही दिनो में सडक से गिटटी डामर उखडना शुरू हो गया था और सडक की मिटटी हटने लगी थी। थाडे ही समय बाद सडक पूरी तरह गडढे और खडंजे में तब्दील हो गयी। लोगो ने बताया कि एक इकहरी सकडी सडक है यहां बाइक से लेकर ट्रैक्टर ट्रली व अन्य बडे वाहन भी गुजरते है और सडक खराब होने के कारण कई बार हादसे हो चुके है लेकिन विभाग द्वारा इस ओर ध्यान नही दिया जा रहा है। लोगो की माने तो सडक की हालत बहुत खराब है और लगभग चार किमी तक सडक की ऐसी ही हालत है। बारिश का मौसम भी शुरू होने वाला है ऐसे में इन गांवो के लोगो की समस्या और भी बढ जायेगी। यदि समय रहते सडक का निर्माण नही किया जाता है तो इस सडक पर रोजना होने वाली दुघर्टनाओं की भी संख्या बढ जायेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट