AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

गुरुवार, 28 जून 2018

शहर की नालियां सिल्ट से भरी, बाबूपुरवा में एक माह से सीवर भराव

कानपुर नगर, शमशाद खान -  कानपुर को सबसे गंदे शहर के ओहदे से नवाजा जा चुका है लेकिन नगर के सरकारी विभागों के अधिकारियों पर इसका कोई फर्क नही पड रहा है। बडी-बडी बातें और बातों में शहर को साफ करने का दावां करने वाले अधिकारी कभी उन सडको और गलियों में नही निकलते जहां सीवर भराव, नालियां सिल्ट से भरी पडी है। अधिकारी उनकी तकलीफ नही समझते जो पानी के लिए घंटो लाइन लगाते है, आरओ का पानी पीने वाले अफसरों को गंदे जलापूर्ति से होने वाली कठिनाई समझ नही आती बस ऐसी कमरो में बैठे पूरे शहर को यह अधिकारी अपनी कलम से चलाते दिखते है। शहर के कई हिस्सो में सीवर भराव है तो कहीं गलियां उखडी है, पुराने इलाको में बीते 20 वर्षो से अधिक समय से नालियां साफ नही हुई है।
                    इसी प्रकार बाबूपरुवा के बेगमपुरवा शहीद मिया पार्क के पास बीते एक महीने से लोग सीवर भराव की समस्या से रोज जूझ रहे है। आसपास रहने वाले लोगों के घरों तक में वीसर का पानी भरा हुआ है। खेत्रीय लोगो की माने तो सीवर भराव के सम्बन्ध में कई बार शिकायत भी की जा चुकी है लेकिन अभी तक निदान नही हो सका। कहा अभी यह हाल है तो आने वाले बारिश के मौस में उनका जीना दूभर हो जायेगा। लोगो ने कहा कि यदि जल्द सीवर भराव समस्या से उन्हे निजाद नही मिलती हैतो अधिकािरयों का घेराव किया जायेगा। लोगो ने कहा कि उन्हे सीवर के पानी से निकलना पडता है। गंदगी और बदबू के कारण इस उमस भरे मौसम में बीमारियां हो सकती है। मामले को लेकर जन प्रतिनिधियों, नगर निगम, जलकल अधिकारियों से कई बार शिकायत की गयी लेकिन हालात जस के तस बने हुए है। लोगों ने कहा यदि ऐसा ही रहा तो वह अधिकारियो को घेराव करने को मजबूर होंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट