AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

बुधवार, 20 जून 2018

किसान दिवस औपचारिकता तक ही रह गया सीमित

फतेहपुर, शमशाद खान । शासन की मंशा के अनुरूप किसानों की समस्याओं के समाधान के लिए प्रत्येक माह आयोजित होने वाले किसान दिवस मजाक बनकर रह गया है जिसमे समस्यायें तो अधिकारी सुनते हैं लेकिन उसका निस्तारण सिर्फ कागजों मे ही दिखाई देता है जिससे किसान दिवस मे आने वाले किसानों मे आक्रोश देखने को मिला। 
बुधवार को प्रेक्षागृह मे कृषि विभाग द्वारा किसान दिवस का आयोजन किया गया जिसकी अध्यक्षता अपर जिलाधिकारी जेपी गुप्ता ने करते हुए आये हुए किसानों की समस्यायें एक-एक कर सुनी जिसमे किसानों ने विद्युत, सिंचाई, नहर, नलकूप जैसी समस्याओं को रखा और विगत दिवस की कार्यवाही पर स्पष्टीकरण मांगा। किसानों ने बताया कि विगत किसान दिवस मे जो भी समस्यायें किसानों ने उठायी थी उन समस्याओं का अब तक निस्तारण नहीं हो सका। जिस पर अपर जिलाधिकारी जेपी गुप्ता ने लापरवाह अधिकारियों को फटकार लगाते हुए निर्देशित किया कि किसान दिवस मे आने वाली किसानों की समस्याओं कोे गंभीरता से अधिकारी लें और शासन की मंशा के अनुरूप उसका निस्तारण समय सीमा के अंदर करें। अन्यथा सम्बन्धित विभागीय अधिकारियों के खिलाफ कार्यवाही की जायेगी। वहीं व्यापक प्रचार प्रसार न होने के कारण किसान दिवस महज औपचारिकता तक ही सीमित रहा। कुछ किसान अपनी समस्याओं को अधिकारियों के सामने उठायी लेकिन किसानों ने यह भी कहा कि विगत दिवस की समस्याओं का अब तक निस्तारण अधिकारी नहीं कर सके तो इस दिवस की समस्याओं का निस्तारण होना कैसे सम्भव माना जाये। किसान दिवस मे आये हुए किसानों मे प्रशासन के प्रति निराशा नजर आयी। इस मौके पर उपकृषि निदेशक केके पाठक, जिला कृषि अधिकारी ब्रजेश सिंह, बबलू कुमार, उपसंरक्षण अधिकारी आरपी कुशवाहा, विद्युत विभाग अधीक्षण अभियंता प्रभाकर पाण्डेय, सिंचाई विभाग, नहर विभाग समेत अन्य विभागीय अधिकारी के अलावा प्रगतिशील किसान लोकनाथ पाण्डेय, किसान यूनियन के जिला उपाध्यक्ष राजेन्द्र सिंह आदि मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट