AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शुक्रवार, 15 जून 2018

पीड़ित परिवार डीएम से मिल फिर लगायी न्याय की गुहार

फतेहपुर, शमशाद खान । युवक द्वारा खुद जहर खाकर जान दिये जाने के मामले पर फर्जी तरह से मृतक के परिजनों द्वारा पीड़ित युवती के परिवार वालों पर मुकदमा दर्ज कराये जाने से आक्रोशित पीड़ित परिवार ने एक बार फिर अधिवक्ता प्रेमशंकर बाजपेयी की अगुवाई मे जिलाधिकारी अन्जनेय कुमार सिंह को शिकायती पत्र देकर मामले की जांच कराने के साथ दफन शव का पुनः पोस्टमार्टम कराकर मुकदमा वापस किये जाने की मांग किया।  
शुक्रवार को कल्यानपुर थानाक्षेत्र के ग्राम कोरसम निवासी ननकी देवी ने सैकड़ों ग्रामीणों के साथ कलेक्ट्रेट पहुंची जहां अधिवक्ता प्रेम शंकर बाजपेयी की अगुवाई मे जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देते हुए अवगत कराया कि साजिश के तहत उनके पति रामबहादुर, देवर राजकुमार लोध एवं भांजा मुन्ना लोध के विरूद्ध मृतक के परिजनों द्वारा साजिश के तहत विभिन्न संगीन अपराधों मे मुकदमा पंजीकृत कराया है जो पूरी तरह से झूंठा एवं फर्जी है। साथ ही पीड़ित परिवार ने यह भी आरोप लगाया कि झूंठी एवं फर्जी पोस्टमार्टम रिपोर्ट बनवाकर उन्हें फंसाने की साजिश रची गयी है। जिसका डाक्टरों का एक पैनल गठित कर शव का पोस्टमार्टम पुनः कराये जाने के लिए निर्देशित करें जिससे पीड़ित परिवार को न्याय मिल सके। पीड़ित ननकी देवी ने बताया कि मृतक युवक पिछले काफी समय से उसकी पुत्री के साथ छेड़छाड़ करता था जब इसका विरोध करते हुए चैड़गरा चैकी मे शिकायत की गयी तो उससे नाराज होकर युवक ने शराब के नशे मे जहरीला पदार्थ खाकर जान दी है लेकिन साजिश एवं राजनैतिक षडयंत्र के तहत उनके परिवार के सदस्यों पर फर्जी मुकदमा दर्ज कराया गया है जिसकी निष्पक्ष जांच कराकर पीड़ित परिवार को न्याय दिलाया जाये। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट