AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 7 जुलाई 2018

दूसरी पत्नी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर की थी दरोगा की हत्या

कानपुर नगर,  हरिओम गुप्ता - बीती 2 जुलाई को थाना सजेती में एक दरोगा की चाकू से गोदकर नृशंस हत्या कर दी गयी थी। दरोगा का लहूलुहान शव थाना परिसर में उसके आवास में अद्धनग्न अवस्था में मिला था। एसएसपी द्वारा घटना द्वारा बनाई गयी टीम ने घटना का ख्ुालासा कर दिया है तथा मृतक दरोगा की दूसरी पत्नी सहित तीन अन्य लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस के अनुसार हत्या का कारण दूसरी पत्नी का अन्य किसी से अवैध सम्बन्ध है।
            इस प्रकारण में प्रसेवार्ता के दौरान एसएसपी अखिलेश कुमार ने बताया कि बनेगंज हरदोई निवासी किरण देवी का सम्बन्ध दरोगा पच्चालाल से वर्ष 2003 में हरदोई में तैनाती के दौरान हुआ था, जिसके बाद दरोगा ने उसे अपनी दूसरी पत्नी के रूप में कानपुर के नवाबगंज इलाके में रख लिया था। इसी बीच पच्चा लाल के मित्र जितेन्द्र उर्फ महेन्द्र यादव जो रोडवेज में चालक है उसका पच्चालाल के घर आना जाना था। बताया जाता है कि कब किरण और जितेन्द्र के बीच प्यार पनप गया पच्चा लाल को पता भी नही चला। पति को अपने प्यार के बीच रोडा बनते देख पन्ती और प्रेमी जितेन्द्र ने पच्चालाल की हत्या की साजिश रची, चूंकि पच्चालाल 58 वर्ष के थे और रिटायरमेंट के लगभग थे, ऐसे में यदि उनकी आन डयूटी हत्या होती है तो उनके बेटे को नौकरी और पत्नी को जीवन भर पेंशन मिलती रहेगी और इनके प्यार का रास्ता भी साफ हो जायेगा सो षडयंत्र रच इस घटना को अंजाम देने के लिए जितेन्द्र और औरैया निवासी निजाम अली के साथ राघवेन्द्र ने मिलकर 2 जुलाई को पच्चालाल की निमर्म हत्या कर दी। एसएसपी अखिलेश कुमार ने कम समय में घटना का खुलासा किये जाने पर इंस्पेक्टर रेलबाजार मनोज कुमार रघुवंशी व इंस्पेक्टर घाटमपुर दिलीप कुमार बिंद के साथ उनकी टीम को 25 हजार रू0 का पुरस्कार दिया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट