AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

गुरुवार, 12 जुलाई 2018

हाकिम की कार्यवाही से जिला अस्पताल का बदल गया निजाम

फतेहपुर, शमशाद खान । प्रदेश में भाजपा सरकार बनते है सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ ने स्वास्थ्य सेवाओं को गरीबों तक पहुंचाने एवं भ्रष्टाचार मुक्त इलाज उपलब्ध कराए जाने का फरमान जारी किया था परन्तु जनपद के जिला अस्पताल के दलालों एवं डॉक्टरों की मनमानी के कारण भीषण भ्रष्टाचार व्याप्त था जिसकी शिकायत जनपद के समाज सेवियों एव पीड़ित मरीजों द्वारा मुख्यमंत्री से की गयी थी। सीएम द्वारा मरीजों की शिकायतों के संज्ञान में लेने के पश्चात तेज तर्रार जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह ने अपने अमले के साथ न केवल जिला चिकित्सालय का निरीक्षण किया बल्कि जनपद के इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी कार्यवाही करते हुए डॉक्टरों समेत कई चिकित्सा कर्मियों को प्रतिकूल प्रविष्टि दी गयी। डीएम आंजनेय कुमार सिंह के आलावा सीडीओ चांदनी सिंह, एडीएम जेपी गुप्ता ने बारीकी से निरीक्षण करते हुए अस्पताल की खामियों को उजागर किया था उनके निरीक्षण में मरीजों एवं तीमारदारों द्वारा अधिकारियो को डॉक्टरों द्वारा बाहर की दवाओं को लिखने एवं ऑपरेशन के नाम पर पैसे मांगने की शिकायत सामने आयी थी जिसपर हरकत में आये जिला प्रशासन ने रेडियोलाजिस्ट की सेवाएं समाप्त करने, डॉक्टरों समेत दवा वितरण करने वालो, पैथालाजी विभाग समेत अन्य कर्मचारियों पर कड़ी कार्यवाही करते हुए प्रतिकूल प्रविष्टि दी गई थी। साथ ही मुख्य चिकित्सा अधीक्षक से अस्पताल की व्यवस्थाओं को ठीक किये जाने निर्देश दिया गया था। जिले के हाकिम की इस कार्यवाही से अस्पताल में जमे घाघ कर्मचारियों के अलावा दलालों में भी दहशत व्याप्त है। दलाल अस्पताल छोड़कर बाहर भाग खड़े हो गए हैं। डॉक्टर, नर्स समेत चिकित्सा कर्मी समय पर डयूटी पर मुस्तैद दिख रहे है। अस्पताल में साफ सफाई से लेकर अन्य सभी तरह की मिलने वाली सुविधाएं चाक चैबंद नजर आ रही है। डॉक्टरों द्वारा मरीजों को अस्पताल के भीतर ऑपरेशन कराये जाने की सलाह दे रहे है तो दवाइयां भी अस्पताल में मिलने वाली ही लिखी जा रही है। बाहरी जांच की जगह मरीजों को अस्पताल की पैथालाजी में ही जांच कराए जाने को कहा जा रहा है। दवा वितरण कक्ष तक में लगभग सभी दवाइयां मौजूद है जिन्हें सम्बंधित मरीजो को दिया जा रहा है। अस्पताल का बदला हुआ माहौल देखकर हर कोई अचंभित है। मामला समझने के बाद लोगो की जबान पर जिलाधिकारी के लिये तारीफे हैं। वही जानकारों ने इसका श्रेय जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह और उनकी टीम को देने के साथ-साथ अस्पताल की खामियों को समय समय तक मुख्यमंत्री तक पहुंचाने वाले समाजसेवी की भी जमकर सराहना हो रही है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट