AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

मंगलवार, 10 जुलाई 2018

सब्जी हुई मंहगी, जेब पर बढा अतिरिक्त बोझ

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता - इन दिनो थाली की शोभा  बढाने वाली सब्जियों का स्वाद महंगा हो गया है। बाजार में एक-दो सब्जी ही नही बल्कि सभी सब्जियों के दाम बढ गये तो वहीं आम के दामों में भी बढोत्तरी हुई है। गर्मी के सीजन में आने वाली लौकी, तोरई अभी कुछ दिन पहलजे 10 रू0 किलो बिक रही थी लेकिन अब यह 25 से 30 रू0 किलो तक बिक रही है वहीं बैगन 40 रू0 किलो तथा आलू भी 25 से 30 रू0 किलो बिक रहा है।
          गर्मी के मौसम में हर वर्ष सब्जियो के भाव बढते हेै लेकिन इस बार कुछ अधिक ही दाम बढ गये है। टमाटर के भाव भी 60 से 80 रू0 किलो हो गये है तो प्याज के दामो की वृद्धि लोगो के जेंबो पर भारी पड रही है। दूसरी तरफ फुटकर व्यापारियों का कहना है कि थोक में उन्हे सब्जी मंहगी मिल रही है इस लिए उन्हे मंहगा सामान बेंचना पड रहा है। बतातें चले कि कानपुर कटरी और आस-पास गांव से घिरा जनपद है ऐसे में भी सब्जी के भाव बढते है कारण यह कि गर्मी मे कुछ ही सब्जियों की पैदावार होती है जबकि खपत उतनी ही बनी रहती है। बरसात के साथ ही बालू की खेती की ऊपर लगभग समाप्त हो जाती है ऐसे में लौकी, तरेाई आदि मंहगी हो जती है। कुछ सब्जी जैसे शिमला मिर्च भी 90 रू0 किलो बिक रही है। लोकी, तोरई, करेला, बैगन आदि सब्जियो की आवक कम होने से इनके दाम बढ है। सब्जी विक्रेताओं की माने तो अभी एक महीना यही स्थिति रहेगी। अगस्त के आखिरी तक कई प्रकार की सीजन की सब्जी बाजार में आने लगेगी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट