AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शुक्रवार, 13 जुलाई 2018

मजदूरो की समस्याओं को लेकर कांग्रेस का ज्ञापन

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता - मजदूरों की विभिन्न समस्याओं को लेकर शहर कांग्रेस कमेटी के नगर अध्यक्ष हर प्रकाश अग्निहोत्री के नेतृत्व में एक प्रतिनिधमण्डल जिलाधिकारी से मिला तथा उनके माध्यम से कपडा मंत्री भारत सरकार को दिये गये ज्ञापन में कहा कि कानपुर की लालइमली मिल को बंद किया जाना दुर्भायपूर्ण है क्यों कि यहां उच्च क्वालिटी का सस्ता कपडा बनता था और मध्यम क्लास व गरीब लोग कपडा खरीदने में समक्ष होते थे लेकिन मिल बंदी के कारण आज लगभग 600 मजदूर परेशान है।
          ज्ञापन में कहा गया कि लालइमली के अधिकारियों को आज पांचवें वेतन आयोग के अनुसार वेतन मिल रहा है तथा 1992 से 2015 तक लगभग 20 से 35 लाख रू0 प्रति अधिकारियों को एरियर के रूप में भी मिला है लेकिन इसी संस्था के मजदूर को एक रू0 भी नही दिया गया। यह अधिकारियों को पांचवा एवं मजदूरों को तीसरे से भी कम वेतनमान के अनुसार वेतन दिया जाने वाला शायद देश का एकमात्र संस्थान है। कहा कांग्रेस कमेटी अवगत कराना चाहती है कि पिछले 14 महीने से लालइमली के मजदूरों एवं कर्मचारियों को वेतन नही मिला है, जिसके कारण मजदूरों के परिवार कष्ट में जी रहे है, बच्चो को शिक्षा नही मिल पा रही है और डिप्रेशन से घिरे मजदूरो की मौते हो रहीं है। नगर अध्यक्ष हर प्रकाश अग्निहोत्री ने कहा 2017 में बीआईसी के चार वरिष्ठ अधिकारी एवं एक मजदूर प्रतिनिध की संयुक्त कमेटी मजदूरों के बकाया एरियर और पुर्नरीक्षित वेतनमान के लिए चेयरमैन बीआईसी ने बनाई थी। इस संयुक्त कमेटी ने भी मजदूरों को 2006 से पांचवे वेतन पुर्नरीक्षित का एरियर देने की संस्तुति की है। साथ ही कहाकि लालइमली की चुन्नीगंज स्थित मजदूरो की कालोनी को रियायती दामों पर क्वाटर मिल के मजदूरों को दिये जाये, क्योंकि यदि कालोनी को तोडा गया एवं मलवा उठाने व पुनः मकान बनाये जाने पर कई करोडो रू0 का खर्च आयेगा। इसलिए भारत सरकार का पैसा भी बचेगा और लालइमली के मजदूरों को अपना आशियाने का सपना भी पूरा होगा। मांग करते हुए कहा कि मजदूरों को 2006 से बकाया एरियर एवं 14 महीनो का वेतन दिलाया जाये व लालइमली की कालोनी के क्वाटरों को रियायती दामो ंपर मजदूरो को देने की आवश्यक कार्यवाही की जाये। ज्ञापन देने में केके तिवारी, कुलदीप ंिसह पूर्व विधायक, आलोक मिश्रा, पीके श्रीवास्तव, अजमेरी वारसी, ग्रीन बाबू सोनकर, राम नारायण, जफर शाकिर, अशोक धानविक आदि मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट