AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 16 जुलाई 2018

दिमागी बुखार के साथ ही शहर को डेंगू का खतरा

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता -  शहर में दिमागी बुखार का प्रकोप पिछले महीने से जारी था तथा इस बीमारी से ग्रसित अन्य मरीज मिलने के बाद अधिकारी में खलबली मच गयी थी। अब बारिश का मौसम शुरू होने के साथ ही एक बार फिर शहर में डेंगू ने दस्तक दे दिया है। डेंगू से ग्रसित एक मरीज की पुष्टि भी हो चुकी है, जिसको देखते हुए स्वास्थ्य विभाग सचेत हो चला है।
    शहर में गंदगी और जलभराव की समस्या समाप्त नही हो रही है और बारिश के दौरान उमस और नमी का मौसम कई बीमारियों को जन्म देगा। यदि डाक्टरो की माने तो इस मौसम में नमी और जगह-जगह जल भराव होने के कारण कई प्रकार के जीवाणु वायरस पनपते है जिनसे भंयकर बीमारियां होती है। सर्दी-जुखाम, मलेरिया के साथ ही डेंगू के वायरस भी इसी नमी के मौसम में पनपते है। इससे पहले शहर में कई लोग दिमागी बुखार की चपेट में आ चुके है और अब डेंगू का मरीज मिलने के बाद स्वास्थ विभाग सक्रीय हो गया है। इस बीमारी का पहला मरीज हैलट अस्पताल के मेडिसिन वार्ड में भर्ती है, जिसके खून की जांच के दौरान डेंगू की पुष्टि हुई है। डेंगू बुखार एक खतनाक बीमारी है और लापरवाही जान तक ले लेती है। डाक्टरो की माने तो किसी भी प्रकार का यदि फीवर होता है तो जरूरी नही कि वह डेंगू ही हो, लेकिन लापरवाही जानलेवा साबित होगी, इसलिए आवश्यक है कि चिकित्सक को अवश्य दिखाये और जांच कराये। बताया कि बुखार के दौरान बिना चिकित्सक को दिखाये किसी प्रकार की दवायें, दर्द निवाकर दवा न खाये केवल बुखार उतारने के लिए पैरासीटामाॅल का ही प्रयोग करे। डाक्टरो ने बताया कि डेंगू होने पर उसके लक्षणो पर ध्यान देना जरूरी है जैसे इस बीमारी में ठंक देकर तेज बुखार आता है जबकि ऐसा ही कुछ मलेरिया में भी होता है लेकिन इसमें जोडो, सिर और बदन में तेज दर्द तथा शरीर पर चकत्ते उभरने लगते है, उल्टी व दस्त शुरू हो जोते है। कुछ केसो में पेट फलने लगता है तथा सांस तक लेने में परेशानी होती है। ऐसे में जरूरती है कि लापरवाही न बरती जाये। बताया डेंगू का सबसे बडा कारण जल भराव जहां मच्छर पैदा होते है तो इस बात का ध्यान रखे कि आपके घर के आस-पास कहीं पानी तो एकत्र नही है यदि है तो उसे जल्द से जल्द साफ कराये, थोडी सी जागरूकता से बीमारियों से बचा जा सकता है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट