AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 15 जुलाई 2018

बारिश के इंतजार मे यमुना तटवर्ती क्षेत्र के किसान आसमान देखकर बहा रहे आंशू

खागा, फतेहपुर, शमशाद खान । पर्याप्त बारिश अब तक न होने से जहां किसानों के माथे पर चिंता की लकीरे हैं तो वहीं आसमान की तरफ निहार कर आंखों से आंसू बहाने को मजबूर है। गर्मी के इन दिनों मे जब किसानों को खेतों मे पर्याप्त पानी होना चाहिए तो वहां धूल उड़ रही है। पूरे दिन किसान अपने खेतों मे बैठकर बारिश होने के लिए आसमान मे टकटकी लगाये बैठे रहते हैं। वही बारिश के न होने से किसानों के चेहरे पर मायूसी छाई हुई है। खागा तहसील के किशनपुर थाना क्षेत्र के यमुना कटरी के गांव रामपुर, पहाड़पुर, रायपुर, भसरौल, गुरुवल, मंडौली, महावतपुर असहट, गढ़ा, अहमदगंज , रारी, इटोलीपुर, अंजना भैरो आदि गांव मे बारिश ना होने से किसानों के चेहरे पर मायूसी छाई हुई है। क्षेत्र के किसान उदय सिंह, राजेश सिंह, धर्मेंद्र दीक्षित, भोला सिंह,  तीरथ सिंह,  कामता सिंह, राम आसरे आदि लोगों ने बताया अभी तक सिर्फ बूंदाबांदी ही होने से खेतों में हल नहीं चलाए जा सकते हैं। जानवरों को पीने के लिए पानी नहीं मिल रहा। सभी नदी-नाले, तालाब बांध, नहर सूखे पड़े हैं। एक मात्र साधन जानवरों को पानी पीने का यमुना नदी का, धान लगाने के लिए बारिश का पानी अति आवश्यक है, परंतु बारिश ना होने से धान की फसल लेट हो रही है। खेती के सभी काम रुके हुए हैं बाजरा, तिली अरहर, मूंग, उड़द आदि फसल बोने का टाइम नजदीक आ गया परंतु अभी तक बारिश की आस में सभी किसानों के पेट में खलबली मची हुई है और सभी कृषि संबंधित काम अधूरे पड़े हैं। अगर कुछ दिन बारिश और नहीं हो रही तो निश्चित ही इस क्षेत्र में खाने के लिए भी अनाज उत्पन्न नहीं होगा।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट