AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

मंगलवार, 3 जुलाई 2018

अन्याय का हर सम्भव विरोध न्याय संगत है

अरविन्द विद्रोही 

#मंगलनामा ।। समाजवादी पुरोधा #डॉलोहिया ने कहा था कमियों बुराइयों गलतियों को #इंगितकरो। अब जब लोग इंगित करते तो जाने क्यों लोगों को मिर्ची लगती है ?अंग्रेजी बोलते कि #ट्रोल करते हैं । साफ बात नो बकवास इंगित करते रहो लेकिन अभद्र भाषा का प्रयोग मत करो।

दरअसल अभी पिछले दिनों विदेश मंत्रालय अंतर्गत पासपोर्ट विभाग लखनऊ में ऐसा कर्म ही किया था  कि लोगों को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के ध्यानाकर्षण और चेताने के लिए सोशल मीडिया पर अनवरत लिखना पड़ा । विदेश मंत्रालय का कोई अधिकारी या खुद मंत्री महोदया यह अभी तक नही बता सकीं कि पासपोर्ट जारी करने में नियम कायदे को क्यों तोड़ दिया गया ?? दोहरे दस्तावेज पर पासपोर्ट दे दिया ,पुलिस की प्रतिकूल रिपोर्ट के बावजूद क्लिरेन्स दे दिया और विरोध होने पर ये कहना कि ..... जनता ही सब कुछ होती लोकतंत्र में ।मोदी जी के प्रभाव के कारण भाजपा सत्ता में हैं यह विदेश मंत्री सुषमा स्वराज को  ध्यान रखना चाहिए था लेकिन क्या उनको ध्यान नही यह ?  ।

पासपोर्ट जारी हुआ है यह निश्चित तौर पर अन्याय है और दुर्भाग्य पूर्ण भी । मुस्लिम तुष्टिकरण की पराकाष्ठा और मंत्री के अहंकार -जिद ही तो कहेंगे इसे ।बताइये आखिर इस प्यार को क्या नाम दूँ ?अब भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को  ध्यान देना चाहिए क्योंकि कहीं इस तरह की गलती की बड़ा सज़ा आम हिन्दू जनता न दे दे ? 

अभी भी भाजपा समर्थकों समेत अनगिनत आम लोग सुषमा स्वराज - विदेश मंत्री से प्रश्न कर रहे । मैंने लिखा भी कि - फिलहाल तो सुषमा स्वराज से कोई जवाब की उम्मीद न करिये । सब कुछ साफ हो गया कि वे जानबूझ कर ऐसा कृत्य कर रहीं जिससे केंद्रीय-मोदी सरकार से पक्के समर्थक भी नाराज हों जायें।2019 का चुनाव प्रभावित करने के तहत-आडवाणी जी का बदला लेने हेतु ।

गोरखपुर के मूल निवासी जितेंद प्रताप सिंह ( वर्तमान निवास अहमदाबाद ) ने एक और जबर्दस्त ट्वीट किया आज ---  सिर्फ एक सवाल, बिना जांच के एक घण्टे में विकास मिश्र का ट्रांसफ़र क्यो हो गया? और @SushmaSwaraj मैडम आपके ब्लॉक करने से मेरा भोजन नही बन्द हो जाये इसलिए प्लीज..
#BlockMeAlsoSushmaJi ..... और यह ट्वीट अब तक तमाम आम जन ने रीट्वीट और ट्वीट कर दिया है । दरअसल प्रश्न पूछने और वाजिब तरीक़े से आक्रोश दर्शाने के एवज में सोनम महाजन को रीट्वीट करते हुए सुषमा स्वराज ने ब्लॉक कर दिया । इस पर जेपी सिंह का ही एक और ट्वीट -- विदेश मंत्री से ब्लॉक प्रमुख ....खासा अच्छा व्यंग्य है । यही नही जेपी सिंह याद भी दिला रहे अपने तमाम ट्वीट से सुषमा स्वराज जी को कि किस तरह उनको कांग्रेस और अन्य विपक्षी नेताओं ने समय समय पर नचनिया आदि शब्दों का प्रयोग करके सम्मानित किया था । अब उनके विभाग और उनकी गलती को इंगित करने से ही भारी कष्ट हो गया ।

जब किसी को अपनी जीवन भर की ख्याति को खत्म करना हो तो उसको आडवाणी जी और उसके बाद सुषमा स्वराज जी से सीखना चाहिए । जिन्ना परस्ती से पासपोर्ट तक का सफर बहुत रोचक है ।

मेरा अपना मानना है कि जनहित में कड़े निर्णय लेने के लिए प्रसिद्ध प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को अब सभी तथ्यों की पड़ताल करके सुषमा स्वराज जी को मंत्री पद दायित्व से मुक्त कर देना चाहिए ।स्वास्थ्य लाभ लेने की जरूरत है इन्हें। 

महागठबंधन ही नही बल्कि भाजपा के भी तमाम नेता जो 2014 में खुद को प्रधानमंत्री बनने के सपने देख रहे थे वे भी मोदी विरोध में कार्यरत हैं । जिन्ना से पासपोर्ट तक का सफर अच्छे अच्छे को मार्गदर्शक मंडल में शामिल कर देता है । #मंगलनामा
💐💐💐💐💐💐💐💐💐


( आज का #मंगलनामा मेरे खुद के ,सुषमा स्वराज जी,जितेंद प्रताप सिंह ,सोनम महाजन और मीडिया हॉउस की ट्वीट्स पर मेरी प्रतिक्रिया और ट्वीट्स पर आधारित है । )

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट