AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 25 अगस्त 2018

बारिश से लोगों के घरों मे घुसा पानी, मार्गों मे जलभराव की समस्या

फतेहपुर, शमशाद खान । दो दिनों से हो रही बारिश से फिर शहर मे चैतरफा हो रही जलभराव की समस्या से जूझना पड गया। अतिक्रमण अभियान से मुख्य मार्गो की दुर्दशा झेल रहे लोगों को मार्ग मे भरे गंदे पानी से होकर गुजरना मजबूरी बना है। मसूलाधार बारिश से ही नाले नालियां उफना गए और सडकों सहित गलियांे एवं घरों मे गंदा पानी प्रवेश कर गया। बाल्टी और मघ्घे लेकर लोग भरे पानी उलचने को मजबूर हैं रिमझिम व कभी तेज बारिश के चलते घरगिरी की घटनाएं भी होने लगी है। पिछले दो दिनों से हो रही बारिश से भले ही लोगों को गर्मी से निजात मिली हो लेकिन जलभराव की समस्या उनका पीछा नही छोड़ रही। जल निकासी की पालिका क्षेत्र मे मुकम्मल व्यवस्था न होने के कारण थोडी देर की बारिश मे ही पूरा शहर पानी-पानी हो रहा है। वर्षो से जलभराव की समस्या से जूझ रहे लोग भी पालिका प्रशासन को कोस रहे है। झमाझम हुयी बारिश ने एक बार फिर पालिका की सफाई व्यवस्था की पोल खोल दी। हर तरफ था बारिश का पानी लोगों के लिए मुशीबत बन गया। उमस भरी गर्मी से बेशक लोगों को राहत से मिली लेकिन जलभराव ने उनका पीछा नही छोडा। राधानगर नई बस्ती, शादीपुर, देवीगंज, स्टेशन रोड, हरिहरगंज, आबूनगर, पीरनपुर, मुराइन टोला, सिविल लाइन, खलील नगर, बिंदकी बस स्टाप सहित तमाम मोहल्लों मे जलभराव की स्थिति बन जाने से लोगों को राम से काम पड़ गया। दुकानों एवं घरों मे बारिश का गंदा पानी प्रवेश करने से लोगों की दिक्कते बढ़ गयी। पानी निकालने के लिए लोगों को खुद से जूूझना पडा। पालिका की सफाई व्यवस्था जिस तरह से चल रही है उससे लोग संतुष्ट नही है। हर तरफ गंदगी और गंदा पानी भर जाने से लोगों की समस्याएं ज्यों की त्यों बनी हुयी है। नालियां से अतिक्रमण अभियान के दौरान हो रही तोड़फोड़ से निकल रहा मलबा इकट्ठा है जिससे समस्या और भी बढ़ गयी है। मलबा न हटाये जाने से जलभराव की दिक्कत से लोगों को जूझना मजबूरी बना है। लगातार बारिश होने से ग्रामीण क्षेत्रों के कच्चे मकानों के गिरने का सिलसिला भी शुरू है। बचने के लिए लोग प्रयास तो कर रहे हैं लेकिन उन्हें राहत नही मिल रही वहीं पुरानी इमारतों मे छत से पानी टपकने के चलते लोगों मे दहशत है। जल निकासी व्यवस्था दुरूस्त न होने के कारण भी समस्या विकराल हो गयी है। घरों व दुकानों मे घुसे पानी को निकालने के लिए लोग जुटते हैं। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट