AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 11 अगस्त 2018

पेट मे कीड़ा मारने की दवा खाने से दो जुड़वा बहनों की मौत

फतेहपुर, शमशाद खान । राष्ट्रीय कृमि मुक्त दिवस का एक दिन पूर्व जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने बच्चों को दवा खिलाकर शुभारम्भ किया था जिसके बाद जनपद के सभी तहसीलों मे आंगनबाड़ियों द्वारा विद्यालयों मे जाकर बच्चों को दवा पिलाई जिसके खाने के बाद दो सगी बहनों की मौत हो गयी और आधा दर्जन बच्चे बीमार हो गये जिसके चलते हडकंप मच गया। बताते चले कि बिन्दकी कोतवाली क्षेत्र के मंडराव गांव मे आंगनबाड़ियों द्वारा विद्यालयों मे कृमि नाशक (एल्बेंडाजोल दवा) खिलाई गयी जिससे गांव के ही सुधीर पाल की दो जुड़वा पुत्रियां श्रेया व सष्टि 5 वर्ष जिनकी हालत बिगड़ने लगी आनन फानन उन्हें उपचार के लिए निजी अस्पताल ला रहे थे तभी रास्ते मे दोनों बहनों ने दम तोड़ दिया। उधर मौत की खबर सुनते ही गांव मे हड़कंप मच गया। मां का रो-रोकर बुरा हाल है बताते हैं कि मृतक बच्चियों के पिता मुम्बई मे ट्रक चलाकर अपने परिवार का पालन पोषण करता है। उधर इस मामले को गम्भीरता से लेते हुए जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह ने स्वास्थ्य विभाग की टीम को मुख्य चिकित्साधिकारी एके अग्रवाल के नेतृत्व मे गांव मे भेज दिया है जहां बीमार बच्चों का उपचार किया जा रहा है। वहीं मुख्य चिकित्साधिकारी एके अग्रवाल का कहना है कि दोनों बच्चियां एक हप्ते से बीमार थी दोनांे बच्चियों को एल्बेंडाजोल की दवा स्कूल मे खिलाई गयी थी लेकिन दवा से बच्चों की मौत नही हुयी है फिर भी डाक्टरों की टीम मौके पर जांच कर रही है। जिसके बाद ही घटना का कारण पता चल सकेगा। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट