AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 12 अगस्त 2018

अज्ञात महिला के शव का पुलिस ने खुलासा कर एक को किया गिरफ्तार

फतेहपुर, शमशाद खान । पुलिस अधीक्षक राहुल राज द्वारा अपराध एवं अपराधियों के विरूद्ध चलाये जा रहे अभियान और अज्ञात घटनाओं के खुलासे के क्रम मे चांदपुर पुलिस ने विगत वर्ष अज्ञात महिला के हत्यायुक्त शव का खुलासा करते हुए हत्यारे को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। 
रविवार को पुलिस लाइन के सम्मेलन कक्ष मे पत्रकारों से बातचीत करते हुए पुलिस अधीक्षक राहुल राज ने बताया कि थाना चांदपुर क्षेत्र के ग्राम परसेढा मे 16 दिसम्बर 2017 को सड़क के किनारे कच्चे मार्ग पर एक अज्ञात महिला का शव मिला था चैकीदार की सूचना पर पुलिस ने शव को कब्जे मे लेकर अज्ञात के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजीकृत करने के बाद विवेचना के दौरान मृतक अज्ञात महिला के शव की शिनाख्त पूनम पाटिल पुत्री सुभाष भीमराव भिडवडे निवासिनी कवटे कुलन्द थाना कुरून्दवाद जिला कोल्हापुर महाराष्ट्र के रूप मे हुयी। विवेचना के दौरान जो तथ्य प्रकाश मे आये उसमे थाना चांदपुर के ग्राम भद्दूपुर का रहने वाला ऋषी पटेल पुत्र नरायण पटेल जो महाराष्ट्र राज्य के कोल्हापुर जिले मे संजय घोड़ावत फैक्ट्री मे काम करता था उसी फैक्ट्री मे मृतक पूनम पाटिल भी काम करती थी इसी दौरान दोनों की मुलाकात हुयी और दोनों मे प्रेम सम्बंध हो गये जिसके बाद ऋषी पटेल अपनी प्रेमिका पूनम पाटिल को अपने साथ लेकर अपने गांव आ गया और दोनों एकसाथ रहने लगे कुछ दिन रहने के बाद प्रेमिका ने शादी करने के लिए कहा तो प्रेमी ऋषी पटेल ने शादी से इंकार करते हुए वापस जाने के लिए कहा जिसके बाद दोनों मे विवाद होने लगा और 15 दिसम्बर 2017 को ऋषी पटेल ने अपनी प्रेमिका को कानपुर घुमाने के लिए ले गया और वापस गांव आते समय ट्रेन से दपसौरा स्टेशन पर उतरे और पैदल परसेठा गांव मे सूनसान जगह देखकर ऋषी पटेल ने प्रेमिका पूनम पाटिल का गला दाबकर हत्या कर दिया और लाश को वहीं छोड़कर भाग गया था जिसके बाद से अज्ञात शव की शिनाख्त के लिए चांदपुर पुलिस लगी रही। विवेचना पूरी होने के बाद प्रेमी अभियुक्त को थानाक्षेत्र के हरिजनपुर मोड़ के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। जिसके खिलाफ मुकदमा पंजीकृत कर जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया गया। घटना का खुलासा करने वाली टीम मे चांदपुर थानाध्यक्ष कैलाश नाथ, दपसौरा चैकी प्रभारी विद्याराम यादव, कां. नियाजुल हक, कैलाश चन्द्र शामिल रहे।  

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट