AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 10 सितंबर 2018

मनाई गयी पार्षद श्यामलाल गुप्ता की 123वीं जयंती

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता - पार्षद स्मृति संस्थान द्वारा फूलगबाग पार्षद वाटिका में पदमश्री श्याम लाल गुप्त जी की 123वी जयंती मायी गयी। श्याल लाल जी को माल्यापर्ण कर संगोठी में साकेत गुप्ता द्वारा पार्षद जी के व्यक्तित्व एवं कृतित्व पर प्रकाष उाला और वक्ताओं ने मांग की है कि केडीए द्वारा जो पार्षद पुस्तकालय संचालित किया जाता है, जो जीर्ण शीर्ण अवस्था में है उसे अविलम्ब ठीक कराकर उसके जीर्णोद्धार का काम किया जाये।
       मुख्य अतिथि पदमरी गिरिराज किशोर ने कहा कि पार्षद जी ने अजीवन राष्ट्र सेवा का व्रत लिया। रामचरित मानस केमर्मज्ञ एवं प्रसिद्ध रामायणी होने के नात उनका समाज में बहुत सम्मान था और उनकी बात कोसभी लोग महात्मा गांधी की आवाज मानते थे। इसी कारण वह निरन्तर बत्तीस वर्ष स्वतंत्रता प्राप्ति तक एक समर्पित एवं कर्मठ स्वतंत्रता सेनारी का दायित्व बखूबी निभाते रहे। उन्होने झण्डा ऊंचा गीत की रचना की जो देश के सपूतो को नया उत्साह प्रदान करता था। विधायक अमिताभ बाजपेयी ने कहा कि पार्षद जी के रग रग में समाज सेवा का भाव भरा थ। वह दीन दुखियों और जरूरत मंदो की निस्वार्थ भाव से सेवा किया करते थे। उनके विषय में कहा जाता था कि तमाम छोटे बडे मसले वह स्वयं निपटा दिया करते थे। उनकी कुशाग्रक बुद्धि के द्वारा समाज को विशेष योगदान मिला। कार्यक्रम की अध्यक्षता कुंज बिहारी गुप्त ने की तथा संचालन सुरेश गुप्ता ने किया। इस अवसर पर रामकुमार गुप्त, जगदम्बा भाई, छोटे भाई नरोना, मदन भाटिया, श्यामदेव सिंह, अनिल सोनकर, भैयालाल पुरी, अम्बर त्रिवेदी, श्रीओम, रीता गुप्ता, बृजमोहन लाल गुप्ता, सत्येन्द्र खन्ना, दीनानाथ द्विवेदी, साकेत गुप्ता, राजेश गुप्ता, रमेश गुपता जो पार्षद जी के पौत्र है वह भी मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट