AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शुक्रवार, 28 सितंबर 2018

बाल रोग एकाडमी मनायेगी 28 अक्टूबर से एण्टीबायोटिक जागरूकता सप्ताह

कानपुर नगर,  हरिओम गुप्ता - भारतीय बाल रोग अकादमी द्वारा 28 सितम्बर से 5 अक्टूबर तक देश भर में एण्टीबायोजिटक जागरूकता सप्ताह बनाया जायेगा। एक वार्ता के दौरान बताया गया कि अकादमी का प्रयास है कि अविवेक पूर्ण एण्टीबायोटिक इस्तेमाल को तथा उससे होने वाले दवा प्रतिरोध को रोका जा सके।। इस अवषय पर जागरूक करने के लिए विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा। मेडिकल परिसर में हुर्ठ वार्ता में संस्था के अध्यक्ष उा0 ललित अरोरा, सचिव डा0 अमित चावला, डा0 राज तिलक, डा0 यशवन्त राव, डा0 अम्बरीश गुपता, उा0 विवेक सक्सेना, डा0 आशीष विश्वास ने इस विषय पर विस्तृत जानकारी दी।
            डा0 यशंवत राव ने बताया कि बच्चों में सामान्यता होने वाली बीमारियों जैसे खांसी, बुखार, दस्त आदि मुख्यता वाइरस बैक्टीरिया या प्रोटोजोअल संक्रमण से होती है। ज्यादातर बीमारियां वाइरेस संक्रमण से होती है। डा0 अम्बरीश गुपता ने दवा प्रतिरोध उत्पन्न न होने के उपाय बताते हुए कहा कि राष्ट्रीय स्तर पर कमेटी बनायी जाये जिसमें नीतिधारक, चिकित्सक, फार्मेसिस्ट, दवा विक्रेता, जांच एव दवा उधोग के नुमाइन्दे हो। कृषि एवं मत्स्य पालन उधोग में विकास सवर्धक की तरह एण्डीबायोटिक के प्रयोग को हतासाहित किया जाये। कहा अस्पतालों और समुदायों के लिए गुणवत्तापरक आवश्यक दवाइयो की अबाधित आपूर्ति है व जन जागरण के लिए शैक्षिक तथा अन्य जागरूकता अभियान चलाने के साथ अन्य उपाय भी बताये। डा0 राजतिलक ने इस वर्ष की थीम सेव एटीबायोटिक सेव फ्यूचर पर विस्तार से बताया। अन्त में डा0 अमित चावला ने विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों की जानकारी दी।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट