AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

बुधवार, 5 सितंबर 2018

पोस्टर एवं लेखन के माध्यम से लोगों को किया जागरुक

चित्रकूट, ललित त्रिपाठी । श्री सद्गुरु नेत्र चिकित्सालय जानकीकुण्ड चित्रकूट में नेत्र दान पखवाडे में पोस्टर एवं लेखन के माध्यम से लोगों को जागरुक करने का प्रयास किया जा रहा है। आज सभी विद्यालयों के छात्रों के बीच नेत्रदान से सम्बन्धित पोस्टर एवं निबंध प्रतियोगिता रखी गयी। जिसमें आॅंखों के महत्व को समझाने का प्रयास किया गया। सदगुरु नेत्र चिकित्सालय के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 आलोक सेन, बाल नेत्र चिकित्सा विभाग की प्रमुख डा0 प्रधन्या वासुले एवं कार्निया विभाग के विभाग प्रमुख डा0 गौतम सिंह परमार ने बच्चों द्वारा बनाये पोस्टर एवं निबंध लेखन का अवलोकन किया। हमारे देष में पिछले कई वशों से राश्ट्रीय नेत्रदान पखवाडा मनाया जा रहा है। जो अगस्त के अंतिम सप्ताह से सितम्बर के प्रथम सप्ताह तक चलने वाला पखवाडा राश्ट्रीय नेत्रदान पखवाडे के रूप में आयोजित किया जाता है। लेकिन आज भी नेत्रदान की संख्या पिछले कई वर्शो में जनसंख्या के आधार पर न के बराबर है। जिसके कारण नेत्रदान से लाभान्वित होने वाले मरीजों की संख्या बहुत कम है। नेत्रदान को महादान की संज्ञा दी गयी है। भारत में करीब 25 लाख मरीज कार्निया के रोगों से पीडित हैं जो नेत्रदान से प्राप्त आॅंख का इंतजार कर रहे हैं। जिसमें प्रतिवर्श करीब बीस हजार दृश्टिहीनों की संख्या बढ रही है। सदगुरु नेत्र चिकित्सालय ने हमेषा ही मोतियाबिन्द, आॅंख का पर्दा, ग्लोकोमा या कार्निया के कारण होने वाले अंधत्व को कम करने का प्रयास किया है। नेत्र चिकित्सालय में नेत्र बैंक की सुविधा उपलब्ध है जिसके माध्यम से लोगों के जीवन को रोषन किया जा रहा है। 


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट