AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 1 सितंबर 2018

पिंकी की हत्या जेठानी ने प्रेमी के साथ मिलकर दिया था घटना को अंजाम- एसपी

फतेहपुर, शमशाद खान । किशनपुर थानाक्षेत्र के अंतर्गत विगत चार दिन पूर्व हुयी विवाहिता की हत्या का खुलासा करते हुए क्राइम ब्रांच व किशनपुर पुलिस ने संयुक्त रूप से हत्या मे सामिल जेठानी व उसके प्रेमी को गिरफ्तार कर घटना का खुलासा कर हत्यारों को जेल की सलाखों के पीछे भेज दिया है। पुलिस लाइन के सभागार मे शनिवार की दोपहर पत्रकारों से रूबरू होते हुए पुलिस अधीक्षक राहुल राज ने किशनपुर थानाक्षेत्र के ग्राम अर्जुनपुर रेवाड़ी निवासी रामदीन की 18 वर्षीय पत्नी पिंकी देवी की हत्या का खुलासा करते हुए बताया कि विगत 27 अगस्त को रामदीन की भाभी रामदुलारी पत्नी बलबीर जो अपनी बहन से रामदीन की शादी कराना चाहती थी लेकिन पिंकी से शादी हो जाने से वह नाखुश थी और उसकी हत्या करने की साजिश रचने लगी। उसने इस काम मे गांव के ही गंगा विष्णु निषाद का पुत्र रमेश निषाद उर्फ बिल्लू जो उसका प्रेमी भी था उसे पैसों का लालच भी था पिंकी की हत्या करने की साजिश रच डाली और प्लानिंग के तहत 27 अगस्त को शाम जेठानी रामदुलारी अपनी देवरानी पिंकी को शौच के बहाने गांव से लगभग 3 किमी एक बाग मे ले गयी जहां रमेश व रामदुलारी ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। उन्होनें बताया कि घटना वाले दिन से ही रमेश फरार चल रहा था उधर मृतका के पति की तहरीर पर नामजद मुकदमा दर्ज कराया गया आज सुबह मुखबिर की सटीक सूचना पर क्राइम ब्रांच व किशनपुर पुलिस ने पथरी जंगल मंदिर के पास से रमेश को धर दबोचा वहीं पुलिस ने पहाड़पुर तिराहे के पास से रामदुलारी को गिरफ्तार कर लिया। उन्होनें बताया कि आरोपी रामदुलारी अपनी बहन से अपने देवर की शादी कराना चाहती थी और पूरी सम्पत्ति पर राज करना चाह रही थी। कामयाब न होने पर उसने अपने प्रेमी के साथ मिल हत्या की साजिश रच डाली। वहीं पुलिस अधीक्षक ने हत्या का खुलासा करने वाली टीम को 10 हजार रूपये नगद पुरूस्कार करने की घोषणा की है। खुलासा करने वाली टीम मे क्राइम ब्रांच प्रभारी अमित पाण्डेय, सर्विलांश प्रभारी सुरेश सिंह, उपनिरीक्षक परवेज अहमद, कां. वीएल सिंह, राजेश सिंह, अनिल सिंह, जावेद, रवी शंकर द्विवेदी, विपिन मिश्रा व किशनपुर थाने के उपनिरीक्षक हेमराज सरोज सामिल रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट