AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 16 सितंबर 2018

सीएमओ दफ्तर के समीप लगा कूड़े का अंबार व जलभराव दे रहा बीमारियों को दावत

फतेहपुर, शमशाद खान । प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाये गए स्वच्छ्ता अभियान के तहत जहाँ एक ओर अभियान चलाकर लोगो को स्वच्छ्ता बनाये रखने के लिये जागरूक किया जा रहा है। तो वही प्रदेश के मुख्यमन्त्री योगी अदित्यनाथ द्वारा स्वच्छ्ता ही सेवा अभियान चलाकर इस मुहीम को गति भी दी जा रही है परन्तु शहर में स्वच्छ्ता का यह अभियान दम तोड़ता हुआ दिखाई दे रहा है। जिलाधिकारी आंजनेय कुमार सिंह द्वारा स्वच्छ्ता अभियान के लिये अनेको कार्य किये जा रहे है परन्तु पीएम से लेकर डीएम तक के प्रयासों को नगर पालिका परिषद द्वारा बट्टा लगाने का काम किया जा रहा है शहर के कई स्थानों पीलू तले चैराहा,बाकरगंज, लाला बाजार एवं आबू नगर मोहल्लों में कूड़े के अम्बार लगे हुए है। डीएम द्वारा नगर पालिका परिषद को दोनों समय सफाई किये जाने के सख्त निर्देश के बावजूद भी उक्त मोहल्लों में सफाई के कार्य समय से नही किये जा रहे। वहीं आबू नगर स्थित तुराब अली का पुरवा सीएमओ कार्यालय के समीप की स्थिति तो और भी खराब है जहाँ कूड़े के ढेर एवं उचित जलनिकासी न होने के कारण गन्दा पानी जमा हुआ है एकत्र गन्दगी बदबू के साथ संक्रामक बीमारियों को दावत दे रही है। स्वास्थ मोहकमे की कालोनी बने होने एवं स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के आने जाने के मार्ग होने के बाद भी गन्दगी से भरे हुए इस मार्ग की कोई सुधि नही ली जा रही जबकि इसी मार्ग से मुख्य चिकित्साधिकारी एवं स्वास्थ महकमे से जुड़े अफसर रोज आते जाते है। वहीं नगर पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि हाजी रजा द्वारा प्रतिदिन सुबह और शाम के समय हर वार्ड में सफाई किये जाने का दम्भ भरा जाता है ऐसे में इन जगहों पर लगे कूड़े के ढेर केंद्र एवं प्रदेश सरकार द्वारा चालाई जा रही स्वच्छ्ता की मुहिम पर नगर पालिका परिषद के सफाई विभाग द्वारा ब्रेक लगाने का कार्य किया जा रहा है। मोहल्लेवासियों द्वारा सफाई की मांग को लेकर कई बार नगर पालिका में शिकायत करने के बाद भी कूड़ा हटाने का कार्य नही किया गया जिसको लेकर स्थानीय लोगो में नगर पालिका की कार्यशैली के प्रति रोष व्याप्त है। लोगो का कहना रहा की देश के प्रधानमन्त्री एवं मुख्यमंत्री द्वारा स्वच्छ्ता का अभियान चलाया जा रहा है परन्तु नगर पालिका परिषद द्वारा जिलाधिकारी के आदेश को धता बताते हुए मनमानी करने का काम कर रहा है। सफाई विभाग द्वारा मोहल्लों की सफाई व्यवस्था पर उचित ध्यान न देकर केवल खानापूर्ति की का रही है जिसका अंदाजा शहर में जगह जगह लगे गन्दगी के ढेरों को देखकर आसानी से लगाया जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट