AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

बुधवार, 12 सितंबर 2018

प्रभारी मंत्री ने विकास कार्यों की समीक्षा कर लापरवाह अधिकारियों को दी चेतावनी

फतेहपुर, शमशाद खान । प्रदेश सरकार के कैबिनेट मंत्री एवं जनपद प्रभारी मंत्री सत्यदेव पचैरी ने अधिकारियों के साथ बैठक कर सरकार की योजनाओं द्वारा संचालित कार्यों की समीक्षा की और कार्य को तेजी से करने के लिए निर्देशित किया। लापरवाही बरतने वाले अफसरों पर कार्यवाही किये जाने की चेतावनी दी। 
बुधवार को कैबिनेट मंत्री एवं जनपद प्रभारी मंत्री सत्यदेव पचैरी ने कलेक्ट्रेट सभागार में सरकार की चल रही कल्याणकारी योजनाओं में कृषि, माध्यमिक शिक्षा, बेसिक शिक्षा, पेय जल, प्रधानमंत्री ग्रामीण व शहरी आवास योजना, कौशल विकास योजना, प्रधानमंत्री उज्जवला योजना, भारत संचार निगम, मनरेगा, बाल विकास, ग्राम स्वरोजगार योजना, स्वास्थ्य, मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना, महिला हेल्प लाइन, नमामि गंगे, ई-टेन्डरिंग, एक जनपद एक उत्पाद, वन विभाग, सिंचाई एवं 50 लाख से ऊपर की योजनाओं की समीक्षा की जिसमें प्राप्त धनराशि के सापेक्ष कार्य किये गये है। जिसमें पाया गया कि माध्यमिक शिक्षा से 45 सरकारी स्कूल चल रहे है जिसमें 13 राजकीय इंटर कालेज, 5 माडल स्कूलों में पानी, विद्युत शौचालय सभी व्यवस्थाएं है। पूर्व प्राथमिक विद्यालयों में बच्चों को बैठने की व्यवस्था ठीक पायी गयी। ड्रेस का वितरण हो चुका। उन्होने कहा कि प्रदेश और देश के प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री राष्ट्रपति आदि जनरल नालेज पढाये जाये किताबी ज्ञान के साथ सामाजिक ज्ञान दें व स्वच्छता के बारे में भी बताने के निर्देश दियें। पेय जल की समस्या के निदान के लिये स्टीमेट बनाकर शासन को दे दें ताकि धनराशि उपल्ब्ध हो सकें। प्रधानमंत्री बीमा योजना में पिछले वर्ष की अपेक्षा 20 प्रतिशत वृद्वि हुई है। उप कृषि निदेशक  ने बताया कि किसानों का ऋण मोचन के तहत किसानों का कोई क्लेम बाकी नही है। उन्होने उप कृषि निदेशक कों निर्देश दिये कि किसानों के खेत का मृदा परीक्षण गांव-गांव सर्वे हो गये या नही हुए है तो करा ले। जैविक खेती करने के लिये किसानों को जागरूक किया जायें जिससे कम लागत पर अधिक आय हो सकें। उद्यान अधिकारी से कहा कि खेती के साथ बेर, नीबू, आम, अमरूद आदि का प्रोजेक्ट बनाकर भेजे ताकि खेती के साथ बागवानी में भी धनराशि खर्च के लिये प्राप्त कर सकें के अलावा कृषि पर आधारित काम होना चाहिये। फ्रूड प्रोसेसिंग का कार्य भी कराया जायें। प्रधानमंत्री ग्रामीण आवास योजना में 96 प्रतिशत कार्य हो चुके है और धनराशि भी उपलब्ध करायी जा चुकी है। कुपोषित व अतिकुपोषित बच्चों का अभियान चलाकर शत प्रतिशत कुपोषण को समाप्त किया जायें। ग्रामीण विद्युतीकरण में तेजी लाकर प्राप्त लक्ष्य को पूरा किया जायें। एक जनपद एक उत्पाद के तहत धरातल पर कार्य दिखने चाहियें। नहरों में टेल तक पानी पहुॅचाया जायें। उन्होने कानून व्यवस्था की भी समीक्षा की। इसके बाद कलेक्ट्रेट प्रांगण से सौभाग्य रथ, विद्युत कनेक्शन हुआ आसान को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह, पुलिस अधीक्षक राहुल राज, मुख्य विकास अधिकारी चाॅदनी सिंह सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित रहें।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट