AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शुक्रवार, 7 सितंबर 2018

महिलाओं में कैंसर के प्रति जागरूता की अधिक आवश्यकता

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता - हमारे देश में कैंसर रोग एवं उससे होने वाली मृत्युदर महिलाओं में लगातार बढ रही है जिसके दो मुख्य कारण है जागरूकता की कमी और देश में प्रशिक्षित कैंसर विशेषज्ञो एवं डायग्रोनिस्टक सेंटर की कमी, जिसके कारण कैंसर रोग बहुत देर से पता चलता है। स्तन कैंसर से पीडित प्रत्येक दो महिलाओं में एक औरत की मृत्यु हो जाती है।
                         इस सम्बन्ध में एक वार्ता चुन्नीगंज स्थित अपोलो स्पेक्ट्रा हाॅस्पिटल में प्रदेश की पहली स्त्री कैंसर रोग विशेषज्ञ डा0 रेशु अग्रवाल द्वारा आयोजित की गयी, जिसमें उन्होने बताया कि महिलाओं को कैंसर से लडने के लिए आज सही दिषा की जरूरत है। सुनियोजित औरपूर्ण उपचार  व सही विशेषज्ञ एवं सुलभ इलाज  की जरूरत है। कहा उनके द्वारा हर शनिवारको आपोलो स्पेक्टा में ब्रेस्ट स्क्रिंनिंग के लिए मुफ्त ओपीडी का भी प्रबन्ध किया जा रहा है, जिससे की ज्यादा से ज्यादा महिलाये लाभान्वित हो सके एवं मुख्य कारण देर से पता चलना को दूर किया जा रहे। कहा भारत विश्व में  दूसरा देश है जहां अंडेदानी का कैंसर सर्वाधिक पाया जाता है, जागरूकता और  स्त्री कैंसर रोग सर्जन की कर्मी के आभाव से पूर्ण इलाज संभव नही हो पा रहा है। एफआईसीसी रिपोर्ट के आंकलन के अनुसर भारतीय महिलाओं के कैंसर, स्तन कैंसर, ग्रमीवा व अंडेदानी कंैसर जो कि कुल मिलाकर महिलओं में होने वाले 40 कैसंर हैै। कहा हम यदि समय से जागरूक हो जाये तो इसका इलाज संभव है और ऐसे में महिलाओं की इस रोग के कारण होने वाली मृत्युदर को रोका जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट