AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 2 सितंबर 2018

ब्रम्हकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय मे धूमधाम से मनायी गयी जन्माष्टमी

फतेहपुर, शमशाद खान । प्रजापिता ब्रम्हकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय मे जन्माष्टमी पर्व धूमधाम के साथ मनायी गयी। बांके बिहारी राधारानी की झांकी के दर्शन पाने के लिए लोग कतार मे लगे रहे।
रविवार को ज्वालागंज मोहल्ला स्थित प्रजापिता ब्रम्हकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय मे श्रीकृष्ण जन्माष्टमी धूमधाम के साथ मनायी गयी जिसमे बांके बिहारी, राधारानी के साथ सतयुगी झूले मे बासुरी बजाते सभी को मोह रहे थे यह चैतन्य झांकी का अनपम दृष्य देखने के लिए भक्तों की कतार दर्शन के लिए लगी रही। इस अवसर पर ब्रम्हकुमारी नीरा बहन ने बताया कि वर्तमान समय कलियुग का अंत चल रहा है जहां पापाचार, भ्रष्टाचार, दुराचार, हिंसा एवं विकारों का दावानल जल रहा है हर मानव अशांत रोग शोक दुख से ग्रसित हो चुका है ऐसी कलियुगी सृष्टि का अब अंत होना ही है तथा आने वाले भविष्य नई दुनिया सतयुग मे सोलह कला सम्पूर्ण, सम्पूर्ण निर्विंकारी दैवी गुणों से परिपूर्ण श्रीकृष्ण का आगमन होने वाला है। अब ऐसे नवयुग वैकुण्ठ मे चलने के लिए परमात्मा सभी का आवाहन कर रहे हैं कि हे मानव अब अज्ञानता की निद्रा से जागकर स्वपरिवर्तन करो परमात्मा से दिव्यगुण और शक्तियों को धारण करके अपनी आत्मा रूपी बैट्री को चार्ज करो क्योंकि रात के बाद दिन अवश्य आता है। अब वो सतयुगी दैवी दुनिया हमे पुकार रही है जहां एक धर्म एक जाति एक सम्प्रदाय एक कुल , एक भाषा तथा एक मत थी जहां शेर गाय भी एक घाट पर जल पीते थे अहिंसा परमोधर्म था और मनुष्य देवतुल्य थे, सुख शांति पवित्रता एवं समृद्धि थी ये भारत सोने की चिड़िया कहलाता था। ये पर्व हमें याद दिला रहा है कि वैकुण्ठ वासी श्रीकृष्ण हम सब का आवाहन कर रहे हैं कि मेरी दैवी दुनिया मे आने के लिए स्वपरिवर्तन करो तो विश्व परिवर्तन हुआ ही पड़ा है। छोटे-छोटे बच्चों ने मनोहारी नृत्य (रास) प्रस्तुत करके सभी को स्वर्णिम दुनिया में पहुंचा कर मंत्रमुग्ध करके भारत के देवभूमि की याद दिला दी। ब्रम्हकुमारी प्रीती बहन ने मंच संचालन किया तथा बीके संगीता, प्रियंका, सीमा, ममता एवं विमला बहनों के साथ-साथ दिनेश, संदीप ने सेवा का तथा प्रसाद वितरण की व्यवस्था मे लगे रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट