AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 10 सितंबर 2018

गलत इंजेक्शन से मरीजों की हालत बिगड़ी, तीमारदारों ने अस्पताल मे काटा हंगामा

फतेहपुर, शमशाद खान । जिला चिकित्सालय के महिला वार्ड मे भर्ती महिला मरीजों को नर्सों द्वारा गलत इंजेक्शन लगाये जाने से लगभग तीन दर्जन भर्ती मरीजों की हालत बिगड़ने लगी जिसके बाद परिजनों ने अस्पताल मे जमकर हंगामा काटा। महिलाओं की हालत बिगड़ते देख ड्यूटी पर तैनात नर्से भाग निकली। हंगामे की सूचना मिलते ही सीएमओ समेत डाक्टरों की टीम वार्ड मे पहुंचकर मरीजों का इलाज करना शुरू कर दिया वहीं हंगामा कर रहे तीमारदारों का कहना रहा कि नर्स द्वारा इंजेक्शन लगाया गया जिसके बाद भर्ती मरीजों की हालत बिगड़ने लगी वहीं कुछ मरीज तड़पने लगे। 
जानकारी के अनुसार रोज की भांति आज सुबह लगभग 7.30 बजे ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्से मरीजों को इंजेक्शन लगाने पहुंची इंजेक्शन लगाने के कुछ ही देर बाद मरीजों की हालत बिगड़ने लगी यह देख मरीजों के तीमारदार ने वार्ड मे हंगामा करना शुरू कर दिया। हालात यह हो गयी कि कुछ मरीज तो बहुत ही बुरी तरह अपने बिस्तर मे तड़पने लगे जिनमे सबा परवीन पुत्री शमशुद्दीन 16 निवासी सनगांव, प्रभा देवी पत्नी रामविलाश 38 निवासी दीवान का पुरवा थाना हुसैनगंज, संध्या देवी पुत्री कल्लू 16 निवासी अमौरा थाना मलवां, विद्या देवी पत्नी कृपा शंकर 50 निवासी टिकरी मनौटी थाना बिन्दकी, पारो पुत्री गौरी शंकर 18 निवासी कस्बा गाजीपुर, मुन्नी बेगम पत्नी स्व0 अब्दुल गफूर 60 निवासी यूसुफजई, शोभा श्रीवास्तव पत्नी मिथलेश श्रीवास्तव 37 निवासी मुराइन टोला, जन्नतुन पत्नी अब्दुल वहाब कस्बा बिन्दकी, सुधा देवी पत्नी सुखनन्द 70 निवासी गंभरी खागा, रेशमा पुत्री सुबराती 16 निवासी जैदुन थाना कोतवाली व सम्पतिया पत्नी नरेश 35 निवासी बड़ा गांव मछरिया थाना गाजीपुर की हालत अधिक बिगड़ जाने पर हडकंप मच गया वहीं ड्यूटी पर तैनात स्टाफ नर्से मौके से भाग खड़ी हुयी जैसे ही हंगामे की सूचना सीएमओ को हुयी तो तत्काल वह मौके पर पहुंचे वहीं स्थिति को भापते हुए सीएमओ ने इसकी सूचना पुलिस प्रशासन को दे दी जिस पर क्षेत्राधिकारी सदर कपिल देव मिश्रा, कार्यवाहक कोतवाली प्रभारी बीरेन्द्र सिंह, बाकरगंज चैकी इंचार्ज कालका प्रताप सिंह, आबूनगर चैकी प्रभारी संगमलाल प्रजापति सहित भारी पुलिस बल जिला चिकित्सालय के महिला वार्ड पहुंच गया वहीं घटना के बावत जब मुख्य चिकित्साधिक्षक डा0 प्रभाकर से पूंछा गया तो उन्होनें बताया कि ऐसी कोई बात नही है। सूत्रों के अनुसार इंजेक्शन का नया डिब्बा खोला गया था जिसके लगने के बाद ठंड लगने के बाद शरीर मे कपकपाहट शुरू हो गयी। उन्होनें बताया कि एमपी स्लिन एंटीवैटिक सभी मरीजों को लगा दिया गया है घंटे भर के अंदर सभी मरीजों की स्थिति नार्मल हो जायेगी। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट