AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शुक्रवार, 26 अक्तूबर 2018

31 के बाद गंगा में नालों से नही गिरेगी गंदगी

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता -  प्रयागराज में होने वाले कुंभ में गंगा को स्वच्छ तथा निर्मल बनाने की तैयारी जोरो पर की जा रही है। गंगा के पानी को साफ करने के लिए तथा प्रयाग तक प्रदूषण रहित पानी पहुंचाने के लिए जल निगम द्वारा तैयारी की जा रही है। जल निगम की माने तो 31 अक्टूर तक शहर का सीसामऊ नाले सहित अन्य चार नालों की गंदगी को गंगा से गिरने से रोक दिया जायेगा फिलहाल तेजी से काम किया जा रहा है।
          प्रयाग में पडने वाले कुंभ को देखते हुए गंगा की सफाई का कार्य किया जा रहा है। जल निगम द्वारा सीसामऊ नाले सहित चार अन्य नालों को मोडने का का तेजी से किया जा रहा है। शुक्रवार को नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल की एक टीम ने शहर आकर नालों को मोडने के काम की प्रगति का जायजा भी लिया, वहीं जल निगम की टीम इसे लेकर पूरी रतह आश्वस्त नजर आ रही है। जल निगम का कहना है कि उनहे सीसामऊ, उबका, नवाबगंज और म्योरमिल नालों की गंदगी गंगा में गिरने से राकने के लिए 31 अक्टूबर तक का समय दिया गया था। जबकि  परियोजना प्रबंधक घनश्याम द्विवेदी ने दावे के साथ कहा कि तीन लानों नवाबगंज, उबका और म्योरमिल नालो को मोडने का काम 28 अक्टूर तक पूरा हो जायेगा, जबकि सीसामऊ नाले का गंदा पानी भी 31 अक्टूबर तक गंगा में जाने से रोक दिया जायेगा। फिलहाल काम तेजी के साथ किया जा रहा है। टीम का ध्यान सीसामऊ नाले पर है और लागातार पंप के जरिये इसका पानी खींचने का काम किया जा रहा है, नाला बंद करने के लिए चैनल भी लगाये जा चुके है साथ ही पंपिग स्टेशन से परमट तक इससे जोडी गयी सीवर लाइन का भी परीक्षण कर लिया गया है। इन नालों का दूषित पानी वीआईपीरोड से जाजमऊ जा रही सीवर लाइन के माध्यम से एसटीपी तक भेजा जायेगा। यदि समय से चारो नालों का काम हो जाता है तो लगभग 16 करोड लीटर गंदा पानी गंगा में गिरने से रोका जा सकेगा।
     

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट