AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 7 अक्तूबर 2018

संविदा विद्युत कर्मचारियों ने अपने अधिकार के लिए दिया धरना

फतेहपुर, शमशाद खान । बकाया वेतन ईपीएफ भुगतान व हटाये गए संविदा कर्मचारियों की पुनः बहाली की मांग को लेकर उ प्र पावर कार्पोरेशन निविदाध् संविदा संघ के बैनर तले कर्मचारियो ने कार्य बहिष्कार एवं धरना प्रदर्शन कर अपनी आवाज बुलन्द किया। रविवार को उप्र पावर कार्पोरेशन निविदाध् संविदा कर्मचारी संघ के बैनर तले महामन्त्री विवेक माधुरे की अगुवाई में संविदा बिजली कर्मचारियो ने अपनी लंबित मांगे वेतन भुगतान, ईपीएफ समेत अन्य कटौतियों का ब्यौरा उपलब्ध कराए जाने एवं हटाये गए संविदा कर्मचारियों को पुनः बहाल करने समेत अन्य मांगों को लेकर कार्य बहिष्कार करते हुए हाइडिल कालोनी में धरना प्रदर्शन कर अपनी आवाज बुलंद किया। धरने के सम्बोधित करते हुए महामन्त्री विवेक माधुरे ने कहा कि ठेकेदार एवं अधिकारियो की मिली भगत से ईपीएफ एवं अन्य कटौतियों में भारी घोटाला किया गया है वहीं अधिषासी अभियन्ता खण्ड तृतीय एवं ठेकेदार ने मिलकर जिलाध्यक्ष की उनके घर से 70 किलोमीटर दूर स्थानांतरित कर दिया गया है जिससे वह कार्य नही कर पा रहे है वहीं ग्रामीण क्षेत्र के विद्युत उपकेंद्रों पर संविदा कर्मचारियों से 24 घण्टे 30 दिन कार्य लिया जाता है जिसे नियमानुसार 8 घण्टे प्रतिदिन एवं 26 दिन कार्य लिया जाए उन्होंने तीनो खण्डो के सभी संविदा कर्मियों का बकाया तीन माह का वेतन भुगतान, ईपीएफ कटौतियों का 2009 से लेकर 2018 तक का ब्यौरा उपलब्ध कराए जाने के साथ ही निकाले गए कर्मचारियो को पुनः बहाल किये जाने की मांग किया। साथ ही कहा सुप्रीम कोर्ट के आदेशानुसार अक्टूबर माह में ठेका समाप्त होने से पहले कर्मचारियो का समस्त भुगतान हो जाना चाहिए यदि उनकी मांगों को गंभीरता से लेकर उनका निदान नही किया जाता तो कल (आज) संविदा बिजली कर्मचारी कार्य बहिष्कार्य करते हुए अधीक्षण अभियन्ता कार्यालय पर धरना देने को बाध्य हो जायँगे इस मौके पर अनिल कश्यप,धर्मेन्द्र सिंह गौर, दिलीप अग्निहोत्री, मुशीर खान, जय प्रकाश शुक्ला, ज्ञान चन्द्र विश्वकर्मा, बाबूलाल रमेश कुमार, महेश कुमार, राजेश कुमार, सन्दीप शुक्ला,दिनेश, पंकज समेत बड़ी संख्या में संविदा विद्युत कर्मचारी मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट