AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 20 अक्तूबर 2018

असत्य पर सत्य ही जीत, जगह-जगह हुआ रावण का पुतला दहन

कानपुर नगर, हरिओम गुप्ता - भगवान श्रीराम द्वारा रावण का वध और असत्य पर सत्य की जीत का प्रतीक पर्व दशहरा पूरे शहर में धूम-धाम और उत्साहपूर्वक मनाया गया। अपनी सौहार्द और भाईचारे का संदेश देती कई मिशाल भी रामलीला मंचन के दौरान देखने को मिली। पूरे शहर में जगह-जगह आयोजित रामलीला मैदानो में रावण के पुतले का दहन किया गया और संदेश दिया गया कि बुराई चाहे जितनी बडी क्यों न हो उसका अंत इसी प्रकार होता है। परेड की सबसे पुरानी और प्रसिद्ध रामलीला में हजारो लोगो ने शिरकत की, यहां रामलीला सोसायटी द्वारा रामलीला का मंचन कराया जाता है। सबसे बडी रामलीला होने के कारण यहां प्रशासनिक व्यवस्था बडे पैमाने पर की जाती है।
         इसी क्रम में यशोदा नगर, थाना बर्रा के पास भी श्रीकृष्ण राम लीला कमेटी द्वारा रामलीला का कई वर्षो से लगातार आयोजन किया जा रहा है। यह आयोजन समाजवादी पार्टी ग्रामीण के पूर्व अध्यक्ष महेन्द्र सिंह यादव द्वारा कराया जाता है। दशहरा पर्व पर सर्व प्रथम उपस्थित अतिथियों ने भगवान राम और लक्ष्मण की आरती की। इसके उपरान्त रामलीला का कलाकारो द्वारा मंचन किया गया। मंच पर रावण वध के उपरान्त रावण के पुतले को आग के हवाले कर दिया गया। हजारो लोगो ने रावण दहन के दृश्य को अपने मोबाइल में कैद किया। पूरे क्षेत्र में मेला लगा रहा जहां विभिन्न प्रकार की दुकानो पर खरीदारों की भीड लगी रही तो ना-ना प्रकार के झूलो पर बच्चों तथा बडो ने भी आनन्द लिया। मंच पर उपस्थित वरिष्ठ नेता सुखराम सिंह यादव ने अपने सम्बोधन में कहा कि राम की लीला या रावण का दहन मात्र देखने की चीज नही है बल्कि हमें इसका जीवन में अनुसरण करना चाहिये कि किस प्रकार एक पुत्र ने अपने पिता के वचन के लिए अपना सब कुछ न्योछावर कर दिया तो वहीं भाई का क्या धर्म है यह लक्ष्मण, भरत और शत्रुघ्न से सीखना चाहिये। पत्नि धर्म किस प्रकार निभाया जाता है यह सीता का चरित्र संदेश देता है। कहा आज हम अपनी परम्पराओं को भूलते जा रहे है। यदि मात्र रामायण का अपने जीवन में अनुसरण कर ले तो न हम लाभान्वित ही होगे अपितु हमारा परिवार, समाज और देश तरक्की करेगा। वहीं पूर्व सपा ग्रामीण जिलाध्यक्ष महेन्द्र ंिसंह यादव ने कहा कि यह देश पर्व और उत्सव प्रधान देश है और हर पर्व हमें कुछ न कुछ सीख और संदेश देते है। रामायण का हर चरित्र हमारे जीवन में बहुत महत्व रखता है। सबसे बडा संदेश हमें यह मिलता है कि जब स्वयं भगवान को कष्ट उठाने पडे, संघर्ष करना पडा तो हम सिर्फ मानव है लेकिन हम अपने जीवन में आने वाली कठिनाईयों के सामने झुके नही बल्कि उनका डटकर मुकालबला करे और अंत में जीत अच्छाई और सच्चाई की ही होगी। इस अवसर पर मुख्य अतिथि सुखराम सिंह यादव, महेन्द्र सिंह यादव, डा0 अजीत यादव, नरेन्द्र यादव, विनोद प्रजापति, मानस यादव, मोना गौतम, सरला शुक्ला, अमित यादव, मंजू तिवारी, अजीत बजपेयी, सुार सिंह आदि उपस्थित रहे।

रावण दहन के उपरान्त परेड रामलीला पण्डाल में लगी आग
कानपुर की सबसे पुरानी और प्रसिद्ध रामलीला कमेटी द्वारा परेड मैदान में रामलीला का मंचन किया जाता है। दशहरा पर्व पर रावण दहन के उरान्त अचालक मंच पर भीषण आग लग गयी जिससे, मैदान में अफरा तफरी फैल गयी। खास बात यह रही कि रामलीला कमेटी का एक भी सदस्य वहां नही दिखा वहीं मौके पर जिलाधिकारी और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मौके पर मौजूद थे। मंच पर लगी आग पर चंद मिनटो में ही फायर ब्रिगेड द्वारा काबू पा लिया गया। इस दौरान कोई हताहत नही हुआ और पुलिस प्रशासन की मुस्तैदी से हादसा टल गया।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट