AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

गुरुवार, 11 अक्तूबर 2018

जिलाधिकारी कुपोषित बच्चों पर विशेष ध्यान देने के लिए दिये निर्देश

फतेहपुर, शमशाद खान । गुरूवार को जिलाधिकारी आन्जनेय कुमार सिंह की अध्यक्षता में कलेक्ट्रट महात्मा गांधी सभागार में पोषण मिशन की बैठक सम्पन्न हुई। उन्होने ब्लांक में तैनात सीडीपीओ से कुपोषित व अतिकुपोषित बच्चों की जानकरी ली। जिसमें अपने-अपने क्षेत्रों के कुपोषित बच्चों की जानकारी दी गयी और इस कार्य में आने वाली परेशानियों से जिलाधिकारी को अवगत कराया। उन्होने जिला पंचायत राज अधिकारी से कहा कि मैन्युअल 25 किग्रा0 वजन तौलने वाली मशीन क्रय करके आॅगनबाड़ी केन्द्रों को तत्काल दिया जायें एवं आॅगनबाड़ी केन्द्रो, सार्वजनिक भवनों के दिवाल पर 10 दिन के अन्दर लम्बाई मापने के लिये फुट, इंच छपवाया जायें ताकि बच्चों की लम्बाई नापी जा सके। उक्त कार्य 25 अक्टूबर तक प्राथमिकता के आधार पर कर लिये जायें के उपरान्त कार्य की सूचना मुझे उपलब्ध करायें। आॅगनबाड़ी कार्यकत्रियों की ट्रेनिंग भी करायें। इसके साथ ब्लाकों में एक पखवाडे में दो बैठके भी आयोजित करें। आप कार्यक्रम को सफलतापूर्वक संचालन हेतु मैन्युअल तैयार कर लाल, पीले श्रेणी में आने वाले बच्चों को चिन्हित करके रख जायें। मैनयुअल में कुपोषित व अतिकुपोषित किन-किन कारणों से बच्चे होते है सारी प्रक्रिया होनी चाहियें। उन्होने कहा कि प्रसव के दौरान माता की मृत्यु कुपोषित बच्चे को जन्म देने से होती है आॅगनबाड़ी व आशा बहु इस सम्बन्ध में घर-घर जाकर गर्भवती महिलाओं किशोरियों का वजन एवं हीमोग्लोबिन की भी जांच कैम्प के माध्यम से की जायें और आयरन की गोलिया खाने तथा स्वास्थ्य सम्बन्धी जानकारियां और साथ ही किशोरियों का डाटा लिया जायें। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी चाँदनी सिंह डीपीआरओ, सीएमओ एवं सीडीपीओ उपस्थित रहें।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट