AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शनिवार, 20 अक्तूबर 2018

नाचते गातें श्रद्धालू विसर्जन के लिये पहुचें गंगा घाट

फतेहपुर, शमशाद खान । शहर सहित ग्रामीण क्षेत्रो मं नवरात्रि में स्थापित रही मां भगवती की प्रतिमाओ को विसर्जन से पूर्व विधिवत पूजा अर्चना के उपरान्त श्रद्धालुओ ने अश्रुपरित आंखो से विदा किया। इस दौरान विभिन्न गंगा घाटो में विसर्जन के दौरान किसी अप्रिय घटना के अदेंशे से चप्पे-चप्पे पर पुलिस दल मुस्तैद रहा दुर्गा पाण्डालों से मां भगवती की प्रतिमाओं के विसर्जन को लेकर भारी उत्साह रहा। ढोल ताशो व गांजे बाजो के साथ गुलाल अबीर उडाते भक्तो का काफिला विसर्जन स्थलो की ओर रवाना हुआ। जगह-जगह स्टाल लगाकर श्रद्धालुओं ने प्रसाद भी वितरित किया। 
मोक्षदायिनी गंगा को प्रदूषण मुक्त रखने के लिये गंगा घाटो मे भू-विसर्जन हेतु मूर्तियों के लिये गडढे खोदे गये। तमाम देवी प्रतिमाओ का जिले के अन्य गंगा घाटो में श्रद्धालुओ द्वारा कुछ प्रतिमाओ का जल विसर्जन भी किया गया। प्रतिमाओ को जल विसर्जन के उपरान्त श्रद्धालुओ ने गंगा में स्नान भी किया। शहर से लेकर विभिन्न घाटो मे किसी भी अप्रीय घटना के मद्देनजर पुलिस बल पूरी तरह से सतर्क रहा। जिले भर में स्थापित देवी प्रतिमाओ को श्रद्धालुओ ने भक्ति भावना के साथ विसर्जित करते हुये अगले बरस मां जल्दी आना की कामना करते हुये उन्हे विदाई दी। जिले के भृगधाम भिटौरा, नौबस्ता, कोटिया, आदमपुर घाट, औगासी घाट में मां भगवती की मूर्तियां का भू विसर्जन किया गया। वही भूमि विसर्जन कराने में गंगा बचाओ सघर्ष समिति के अध्यक्ष शैलेन्द्र शरन सिम्पल पदाधिकारियों के साथ ओम घाट भिटौरा में लगे रहें आने वाली मूर्ति को भूमि विसर्जन में भक्तो को किसी तरह की दिक्कत न हो इसके लिये समिति के लोग सहयोग करते रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट