AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

सोमवार, 29 अक्तूबर 2018

मानक विहीन निर्माण पर नही चेत रहे विभागीय अधिकारी

कानपुर नगर,  हरिओम गुप्ता - मानकों और सुरक्षा को ताक में रख कर निर्माणाधीन भवनों में बेसमेंट की खोदाई की जा रही है जो जान की आफत बनीती जा रही है। खुदाई में मानको का पालन नही किया जा रहा है। बीते तीन सालों में शहर में बेसमंेट सहित जो भी इमारतों का निर्माण हुआ है सब नक्शे और मानको के विपरीत हुआ है। भले ही केडीए वीसी के सख्त निर्देश हो लेकिन केडीए के अधिकारियों की कार्यप्रणाली में कोई परिवर्तन नही हो रहा है। शहर भर में निमार्णाधीन भवनों में अवैध रूप से बेसमेंट की खुदाई की जा रही है। यह हालात तब है जब पूर्व में बेसमेंट की खोदाई करने के दौरान मिटटी धंसने के कारण मजदूर की मौत व कई घायलों हो चुके है।
         कानपुर नगर में  मास्टर प्लान 2018 को ताक पर रखकर धडल्ले से मानक विहीन निर्माण कराये जा रहे है, जिसमें सम्बन्धित अधिकारी आंख मूंचे है। शहर में जितनी इमारते बन रही है यहां पार्किंग के नाम पर बेसमेंट तो बनाय जा रहे है लेकिन उनका उपयोग दूसरे कामों पर रखा जा रहा है। जहां बेसमेंट स्वीकृत नही भी है वहां भी बेसमेंट बनाये जा रहे है। कई बडे व व्यावसायिक निर्माण वाले भवनों में बेसमेंट का निर्माण भी कराया जा रहा है। बताते चले की पूर्व में कैनाल पटरी में बेसमेंट में हो रही खुदाई के दौरान मिटअी धंस जाने से जहां एक मजदूर की मौत हो गयी थी वही दो घायल हो गये थे, इसी प्रकार भदौरिया चैराहा पर भी हादसा हुआ था जहां मिटटी धंसने से मजदूर दब गये थे। बावजूद इसके पूरे शहर में अभी भी मानक विहीन बेसमेंट बनाने के लिए खोदाई की जा रही है। छोटे-छाटे भवनों में भी बेसमेंट पहले बनाया जा रहा है और सम्बन्धित अधिकारी जान कर भी कोई कार्यवाही नही करते है। अधिकारियों द्वारा रटा रटाया बोला जाता रहा है कि लिस्ट तैयार की जा रही है, अवैध निर्माण वालों को नोटिस दी जा रही है, मानक पूरे न करने वालो पर कार्यवाही की जायेगी लेकिन आज तक कार्यवाही के नाम पर कुछ नही हुआ। वहीं इमारत बनने से पहले की खुदाई पर विभाग ध्यान देदे तो अवैध निर्माण की नौबत ही नही है लेकिन पैसे की सेटिंग के कारण हर प्रकार का अवैध निर्माण हो रहा है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट