AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

शुक्रवार, 12 अक्तूबर 2018

असंख्य दीपों से हुआ शक्ति स्वरूपा चन्द्रघंटा का नमन व पूजन

फतेहपुर, शमशाद खान । शारदीय नवरात्रि के आज तीसरे दिन जिले भर मंे अलग-अलग स्थानो में सजाये गये दुर्गा पाण्डालो में भोर से ही महामाई के जयघोष सुनायी देने लगे। आदिशाक्ति मां भवानी के मन्दिरो व पाण्डालो मे देवी को मनाने का सिलसिला जारी रहा। नवरात्रि के तीसरे दिन भक्तों ने आदिशक्ति मां भवानी के चन्द्रघंटा स्वरूप का दर्शन कर उनकी आराधना कर मन वाछित फल मांगे। 
नवरात्रि पर्व में जिले का माहौल भक्ति रस से डूब गया है हर कोई शेरेवाली मां को मनाने में जुटा है। इसके उपवास देवी जागरण व तमाम प्रकार से मां की साधना की जा रही है। दरबारो को सजाने में आयोजक समितियों द्वारा कोई कोताही नही बरती गयी। नगर क्षेत्र के लगभग हर पाण्डाल में मां की मनोहारी झांकी के दर्शन मिलते है। कही पर शेर पर सवार मां अपने भक्तो को वरदान दे रही तो कही पर असुर महिषासुर का संघार कर रही तो कही मां चन्द्रघंटा स्वरूप की मूर्ति स्थापित की गयी है। शारदीय नवरात्रि के प्रारम्भ के कारण पूरे शहर में भक्ति का माहौल देखा जा रहा है। सुबह से ही मातारानी के दरबार में पूजा अर्चना व पाठ के लिये श्रद्धालुओ का तांता लगने लगा है। भोर से लेकर रात 11 बजे तक लगभग हर पाण्डाल में पूजा अर्चना जारी है। इसके उपरान्त मांत्र दो घन्टे के लिये पाण्डालो के पट बन्द किये जाते है और दोपहर एक बजे से महिलाओ द्वारा मां के दरबार में श्रद्धा के साथ भक्ति रस की स्वर लहरी छेड दी जाती है। जो शाम तक बहती है। सांयकालीन सभा में शहर का हर कोना दूधिया रोशनी से नहा उठता है और माता रानी के पाण्डालो को विद्युत झालरो से सजाया जाता है। दम-दम कर दमकती रोशनी बरबस लोगो को आकर्षित करती है। हर तरफ भक्तिमय गीतो की झंकार भक्तो केा भक्ति में उन्मादित करती चली जाती है। सभी में महामाई की आरती व फिर रात्रि जागरण हर दिन होता है। और माता रानी को प्रसन्न करने के लिये रात भर गीतो की झंकार शुरू रहती है। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट