AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 14 अक्तूबर 2018

सामाजिक न्याय सम्मेलन मे भाजपा सरकार के कार्यों पर जताया गया रोष

फतेहपुर, शमशाद खान । सामाजिक न्याय सम्मेलन मे आर्थिक न्याय, दलितों एवं पिछड़ों का आरक्षण, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार के विषयों पर विस्तारपूर्वक चर्चा की गयी। साथ ही आजादी के 71 वर्ष बीत जाने के बाद भी देश आजादी के आकाश से गिरकर खजूर पर अटक गयी जैसे विषयों पर प्रकाश डाला गया। रविवार को पीरनपुर स्थित सारा मैरिज हाल मे सामाजिक न्याय सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसमे मुख्य अतिथि के रूप मे मौजूद इलाहाबाद उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायमूर्ति सभाजीत यादव ने कहा कि आजादी के 71 वर्ष बाद भी देश की आजादी के आन्दोलन का उद्देश्य अभी भी पूरा नही हो पाया है आजादी आकाश से गिरकर खजूर पर अटक गयी है जो आम आदमी तक नही पहुंच पायी है। उन्होनें कहा कि 16 बार लोकसभा व प्रदेश मे 17 बार विधानसभा चुनाव द्वारा बार-बार सत्ता परिवर्तन के बावजूद भी देश मे आर्थिक और सामाजिक विसमता की खाई घटने की बजाय निरन्तर बढ़ती जा रही है। उन्होनें कहा कि लगभग साढ़े चार वर्षों मे केन्द्र की मोदी सरकार द्वारा गठित नीति आयोग अभी तक न तो गरीबी निर्धारण का कोई मापदण्ड निर्धारित किया और न ही गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले लोगों की वास्तविक संख्या ही देश को बतायी है जिससे उनका गरीबों के प्रति नजरिया साफ जाहिर है। उन्होनें कहा कि बढ़ती हुयी बेरोजगारी के कारण लगातार देश मे सामाजिक एवं आर्थिक विषमता की खाई बढ़ती जा रही है। फिर भी गरीबों व बेरोजगारों के प्रति केन्द्र एवं प्रदेश सरकारें बिल्कुल संवेदनहीन हो चुकी है। श्री यादव ने कहा कि सरकारें औद्योगिक घरानों और पूंजीपतियों की मदद मे लगी हुई हैं। बेरोजगार नौजवानांे, किसानांे, गरीबों व मजदूरों की समस्याओं के निराकरण की किसी को कोई फिक्र नही है। उन्होनें कहा कि भाजपा व उनकी सरकार का नारा सबका साथ सबका विकास थोथा ही नही साबित हुआ है। बड़े-बड़े पूंजीपति इस सरकार मे करोड़ों रूपये का बैंक घोटाला करके भाग गये हैं लेकिन सरकार कुछ भी नही कर पा रही है। इस अवसर पर प्रेम प्रकाश यादव, वरिष्ठ अधिक्ता सूर्यबली निषाद, मनोज यादव आदि ने सम्मेलन मे आर्थिक न्याय, दलितो एवं पिछड़ों का आरक्षण, बेरोजगारी, शिक्षा मे समानता, शिक्षा का व्यवसायीकरण, राजनीति का अपराधीकरण एवं भ्रष्टाचार विषयों पर अपने-अपने विचार रखे। सम्मेलन की अध्यक्षता पूर्व जनपद न्यायाधीश बीडी नकवी ने किया व संचालन सुरेश कुमार राही ने किया। आयोजक मो0 आसिफ एडवोकेट ने आये हुए अतिथियों एवं प्रतिनिधियों का आभार व्यक्त किया। इस मौके पर सामाजिक कार्यकर्ता विद्याभूषण रावत, फूल सिंह यादव, बाबू सिंह यादव, शफीकुल गफ्तार एडवोकेट, जैद अहमद फारूकी, विजय बहादुर यादव, गयास अहमद शेरवानी, वासुदेव पासी, सुरेश कोरी, द्वारकेश सिंह यादव, बुधराज धाकड़ी, धीरज कुमार बाल्मीकि, धर्मेन्द्र प्रताप सिंह, बुद्ध प्रकाश राय, राजेश प्रताप आदि बड़ी संख्या मे लोग मौजूद रहे। 

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट