AMJA BHARAT एक वेब न्‍यूज चैनल है जिसे कम्‍प्‍यूटर, लैपटाप, इन्‍टरनेट टीवी, मोबाइल फोन, टैबलेट इत्‍यादी पर देखा जा सकता है। पर्यावरण सुरक्षा के लिये कागज़ बचायें, समाचार वेब मीडिया पर पढें

रविवार, 4 नवंबर 2018

सामाजिक समरसता के साथ मनाया गया श्रीराम राज्याभिषेक

फतेहपुर, शमशाद खान । सामाजिक समरसता के साथ मनाया गया श्रीराम राज्याभिषेक महोत्सव गद्दी पर बैठने के साथ ही तिलक लगाकर आरती उतारकर श्रद्धालु शुभ घड़ी मंे जयकारे लगाते रहे। राजस्थान के कलाकारों द्वारा प्रस्तुत कार्यक्रम को देखकर भक्तरस में डूबे बल्कि उल्लास से उझल पड़े। खास बात यह रही कि पीलू तले चैराहे में राजा दशरथ के बेटे मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम की राजगद्दी के मौके पर मुस्लिम समाज के लोगों ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया। पीलू तले चैराहे को राजतिलक के लिए दुल्लहन की तरह सजाया गया था। विद्युत की रंगीन व कुमकुम झालरों के साथ-साथ फूल पत्तियों की सौन्दर्यता हर किसी को लुभा रही थी। 14 वर्ष वनवास काट कर अयोध्या आये भगवान श्रीराम के राजतिलक की खुशी में बच्चे हो या युवा, महिलायें, बड़े सभी इस नयनाभिराम दृश्य को देखकर आतुर थे। श्रीराम राज्यभिषेक मण्डल द्वारा ईद, बकरीद, मोहर्रम, नवरात्र, दशहरा के पवन पर्वाें पर शान्ति व्यवस्था व सफाई व्यवस्था के लिए जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, अपर जिलाधिकारी, अपर पुलिस अधीक्षक, अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका, शहर काजी अब्दुल्ला शहीदुल इस्लाम, स्वामी विज्ञानानन्द, नगर पालिका अध्यक्ष प्रतिनिधि हाजी रजा, सफाई नायक व सफाई कर्मियों को प्रशिस्त पत्र देकर सम्मानित किया गया। पुलिस अधीक्षक राहुल राज ने कहा कि भगवान श्रीराम का आदर्श हम सभी के लिए अनुकर्णीय है। उन्होंने अपने कार्याें के आधार से समाज को जोड़ने का जो कार्य किया था। वह हम सभी के लिए आदर्श है। उन्होंने जनमानस से अपील की कि पर्यावरण को संरक्षित रखने के लिए दीपावली के पर्व पर सुप्रीम कोर्ट के निर्देशानुसार निर्धारित समय सांय 8 बजे से 10 बजे तक की पटाखे छुड़ायें तथा ज्यादा ध्वनि वाले पटाखों का इस्तेमाल न करें। अपर जिलाधिकारी जेपी गुप्ता ने कहा कि शान्तिपूर्ण ढंग से पर्वाें को सम्पन्न कराने मंे फतेहपुर की जनता का विशेष योगदान रहा। जो कि बधाई के पात्र है। पर्वाें में मिलजुलकर एक दूसरे का सहयोग करते हुए सौहार्दता के साथ सभी पर्वाें को शान्तिपूर्ण ढंग से निपटाया। शहर काजी अब्दुल्ला शहीदुल इस्लाम ने कहा कि श्रीराम के साथ उनके अनुज भरत का चरित्र भी अनुकर्णीय हैं। जिन्हांेने उनकी चरण पादुकायें रखकर 14 वर्ष तक राजपाट संभाला था। स्वामी विज्ञानानन्द ने कहा कि मर्यादा पुरूषोत्तम श्रीराम ने समाज के सबसे नीचे के तबके को अपने साथ जोड़ा था। जो समाज अपने साथ सभी को साथ लेकर चलता है। सही मायनों में वह समाज रामराज्य की कल्पना को साकार करता है। कार्यक्रम के संयोजक विनोद कुमार गुप्त ने अतिथियों का आभार प्रकट करते हुए कहा कि आज के इस कार्यक्रम से हम सभी को अपने जीवन में किसी एक बुराई का त्याग करने का संकल्प लेके जाना होगा। तभी हम कार्यक्रम की सार्थकता को साकार कर सकते हैं। विशिष्ठ अतिथि के रूप में पंकज गुप्ता क्षेत्रीय संयोजक कानपुर बुन्देलखण्ड क्षेत्र भाजपा ने कहा कि आज समाज में ऐसे ही कार्यक्रमों की आवश्यकता है। जिससे सामाजिक समरसता बनी रहे। उन्होंने आयोजकों को धन्यवाद देते हुए कहा  िकइस तरह के कार्यक्रम हर वर्ष करते रहें। मण्डल के अध्यक्ष फरहत अली सिद्दीकी ने कहा कि सामाजिक समरसता से एक स्वस्थ्य समाज की परिकल्पना साकार होती है। कार्यक्रम में मुख्य रूप से बिपिन बिहारी शरण, उमेश तिवारी, अजय बाजपेयी, दिलीप मोदनवाल, शैलेन्द्र शरन सिम्पल, गिरजा सोनी, अमित बिहारी शरन, आशीष अग्रहरि, रोहित चैरसिया, गुड्डू राईन, परवेज अहमद, कविता रस्तोगी, अर्चना त्रिपाठी, ममता गुप्ता सहित तमाम लोग मौजूद रहे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें

Advertisement

Advertisement

लोकप्रिय पोस्ट